फिरोजाबाद: न्यायालय ने पॉक्सो के दोषी को सुनाई 20 साल के सजा

फिरोजाबाद। न्यायालय ने पॉक्सो के दोषी को 20 साल के कारावास की सजा सुनाई। न्यायालय ने उस पर 28,000 रुपए अर्थदंड लगाया। अर्थदंड न देने पर उसे अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।
थाना उत्तर क्षेत्र स्थित एक मंदिर से 15 जून 2015 को एक युवक किशोरी को भगा ले गया था। किशोर के पिता ने चंचल पुत्र रमाकांत निवासी महावीर नगर, उसकी मां सुनीता देवी, मृदुला, राखी और गोपाल के खिलाफ तहरीर दी थी। पुलिस ने विवेचना के बाद चंचल, सुनीता देवी और मृदुला निवासी महावीर नगर गली नंबर 3 के खिलाफ न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल किया था। मुकदमा अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश विशेष न्यायधीश पॉक्सो कक्ष संख्या एक अवधेश कुमार सिंह की अदालत में चला। अभियोजन पक्ष की तरफ से मुकदमें की पैरवी कर विशेष लोक अभियोजक अवधेश भारद्वाज ने बताया कि गवाहों की गवाही और साक्ष्यों के आधार पर न्यायालय ने चंचल पुत्र रमाकांत को दोषी माना। जिला न्यायालय ने उसे 20 साल के कारावास की सजा सुनाई। न्यायालय ने उस पर 28,000 रुपए अर्थदंड लगाया। अर्थ दंड न देने पर उसे छह माह का अतिरिक्त कारावास की सजा भुगतनी होगी।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -