Skip to content

फिरोजाबाद: चूड़ी कारोबारी के घर हुई लूट का पुलिस ने किया खुलासा

-नौकर ने साथियों के साथ की थी चूड़ी कारोबारी के घर लूट, तीन लोग गिरफ्तार

फिरोजाबाद। तीन मई की रात को चूड़ी कारोबारी को बंधक बनाकर लूटपाट करने वाले तीन शातिर लुटेरों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। घटना थाना दक्षिण क्षेत्रांर्गत देवनगर में घटी थी। पुलिस ने पकड़ेे लुटेरों के पास से लूटी रकम और अवैध असलाह बरामद किये हैं। एसएसपी ने वार्ता के दौरान बताया कि पूरी घटना का मास्टर माइंड चूड़ी कारोबारी के घर काम करने वाले एक पूर्व कर्मचारी निकला।

तीन मई को थाना दक्षिण क्षेत्रांर्गत सुशील कांत गुप्ता निवासी देवनगर चूड़ी कारोबारी के घर पर देर रात अज्ञात बदमाश छत के रास्ते प्रवेश कर गये। बदमाशों ने परिवार के सदस्यों को बंधक 12 लाख, 50 हजार रुपये की नकदी एवं एक सोने की अंगूठी लूट ली थी। इसके बाद फरार हो गये थे। निकाय चुनाव के दौरान बेहद सख्त सुरक्षा व्यवस्था के बीच हुई घटना को पुलिस ने चुनौती के रूप में लिया था। एसएसपी आशीष तिवारी के निर्देश पर पुलिस की टीमें तभी से मामले की सुरागकशी और खुलासा करने में जुटीं थी।

मंगलवार को एक मुखबिर की सूचना पर थाना पुलिस ने तीन संदिग्धों को मुठभेड़ के दौरान गिरफ्तार कर लिया। कड़ई से पूछताछ के दौरान तीनों ने चूड़ी कारोबारी के घर पर वारदात करने की बात कबूली। पुलिस ने तीनों लुटेरों प्रदीप दीक्षित उर्फ छोटू और अमन दुबे निवासी लोहिया नगर के अलावा शिवम कश्यप निवासी कोटला रोड की निशानदेही पर लूटी गई रकम का 9.50 लाख रूपये और सोने की अंगूठी बरामद कर ली। अन्य सामान की रिकवरी रिमांड पर लेकर की जाएगी। फिलहाल तीनों लुटेरों को जेल भेजा है। लुटेरों के पास से पुलिस को अवैध असलाह भी बरामद हुए हैं

एसएसपी आशीष तिवारी ने बताया कि शिवम कश्यप करीब दो साल पहले चूड़ी कारोबारी सुनीलकांत के घर नौकरी करता था। उसे सुनील कांत के कारोबारी व परिवार की स्थिति के बारे में पूरी जानकारी थी। दो साल पहले उसे नौकरी से निकाल दिया था। उसी ने अपने दो अन्य साथियों प्रदीप दीक्षित, सुरेश और अमन दुबे को वारदात को उकसाया। पुलिस की माने तो तीनों के विरूद्व पूर्व में भी कई अन्य मामलों में मुकदमा दर्ज हैं। शिवम ने लूट के पीछे का कारण खुद को कर्ज में होना बताया है।

एसएसपी ने बताया कि तीनों आरोपियों को गैंगस्टर लगाई जाएगी। जिससे की कोई भी इस तरह का अपराध करने से पहले सोचे। वहीं एसएसपी ने थाना दक्षिण प्रभारी राजेश पांडेय व एसओजी टीम की सराहना की है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *