फिरोजाबाद: जांच में फेल हो गए खाने-पीने के 11 नमूने

फिरोजाबाद। सुहागनगरी में खाद्य विभाग द्वारा लिए गए खाने-पीने के 11 नमूने फेल हो गए हैं। मुनाफा कमाने के लिए दुकानदार हानिकारक पदार्थो की बिक्री कर रहे है। बीते दिनों खाद्य विभाग द्वारा भरे गए कई सैम्पल फेल निकले है। 11 नमूने मानक के अनुसार न पाए जाने पर खाद्य सुरक्षा विभाग मिलावट खोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करा रहा है।

सहायक आयुक्त डा. सुधीर कुमार के निर्देशन में बीत दिनों अभियान चलाकर सैम्पल जांच के लिए भेजे थे। आस्था इंटरप्राइजेज लालऊ से रेड चिली पाउडर का नमूना लिया। पैकेट पर अधूरी जानकारी थी। जांच में इसमें केमिकल पाए जाने पर प्रयोगशाला ने मिर्च का असुरक्षित घोषित किया है। दीवान सिंह मैसर्स शिवम ट्रेडर्स आगरा के वाहन से हाईवे पर भरे किशमिश की गुणवत्ता भी मानक के अनुसार नहीं मिली। चिश्ती नगर निवासी रोमन खान से लिए टोस्ट के पैकेट पर निर्माता की पूरी जानकारी अंकित नहीं होने पर मिथ्या छाप घोषित किया है।

मैसर्स स्पाइस्को फूड्स शिकोहाबाद से भरे गए सैम्पल में पनीर, हल्दी पाउडर के पैकेट पर पूरी जानकारी अंकित नहीं होने पर भी नमूना फेल हुआ है। इसी फर्म की साबुत हल्दी जांच में असुरक्षित मिली है। उमेश चंद्र निवासी लालपुरा छैना मिठाई के लिए नमूने में बाहा पदार्थ की मिलावट की पुष्टि हुई है। श्याम सुंदर हिम्मतपुर की दुकान से चाॅकलेट वर्फी और अवधेश की दुकान से बेसन का नमूला भी खाद्य सुरक्षा विभाग के मानको के अनुसार नहीं मिला। सहायक आयुक्त का कहना है कि विक्रेताओं के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया जा रहा है।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -