टूंडला- ’यूक्रेन में फंसे टूण्डला के दो लाल’

-परिवार के लोगों की बढ़ रही परेशानियां
-इंडियन एम्बेसी छात्रों को रोमानिया के रास्ते निकालने की कर रही तैयारी

टूंडला। यूक्रेन और रूस के बीच हुए युद्ध के बीच टूंडला के दो छात्र यूक्रेन में फंस गए। दोनों ही छात्र वहां से एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहे थे। जिनके परिवार के लोग अपने बच्चों से व्हाट्सएप के जरिए लगातार उनके हालचाल ले रहे हैं।

टूंडला के गांव मोहम्दाबाद में जगदीश यादव का परिवार रहता है। जगदीश गाँव में ही प्राइवेट मेडिकल प्रेक्टिस करता है। उसका पुत्र किशन सिंह यादव यूक्रेन के डैनी प्रो. शहर में डैनी प्रो स्टेट मेडिकल यूनिवर्सिटी में एमबीबीएस की पढ़ाई कर रहा है। किशन भारत से गत 11 दिसंबर 2021 को दिल्ली हवाई अड्डे से यूक्रेन के लिए रवाना हुआ था। अचानक रूस और यूक्रेन के मध्य चल रहे विवाद ने दो देशों के बीच युद्ध का रूप धारण कर लिया। जिसके चलते काफी संख्या में भारतीय मूल के लोग यूक्रेन में फंस गए हैं।

वहीं टूंडला में एडीओ पंचायत के पद पर तैनात रामशंकर सिंह का पुत्र आकाश भी यूक्रेन में ओडेसा शहर में एमबीबीएस फाइनल ईयर का छात्र है। जो कि वहीं फंसा हुआ है। उसने बताया कि इंडियन एम्बेसी रोमानिया के रास्ते हम सभी छात्रों को यूक्रेन से बाहर निकालने में मदद कर रही है। हम जल्द ही भारत सुरक्षित आ जाएंगे। आकाश के पिता भी व्हाट्सएप वॉइस कालिंग के जरिए अपने बेटे का हाल जान रहे हैं।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -