फिरोजाबाद- सुरक्षित मातृत्व ही एक स्वस्थ्य भविष्य का निर्माण कर समाज को नई दिशा दे सकता है-डा. शिखा जैन

फिरोजाबाद। दाऊदयाल महिला महाविद्यालय की राष्ट्रीय सेवा योजना की दोनों इकाई के कार्यक्रम अधिकारी डॉ नम्रता निश्चल त्रिपाठी एवं डॉ छाया बाजपेई के निर्देशन में अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया। कार्यक्रम में स्वयं सेविकाओं ने बढ़-चढ़कर प्रतिभाग किया।

शिविर का शुभारंभ शिक्षण संस्थान की अध्यक्षा माला रस्तोगी एवं प्राचार्या डाॅ विनीता गुप्ता ने किया। शिविर के प्रथम चरण में स्वयं सेविकाओं को राष्ट्रीय सेवा योजना के अस्तित्व से परिचित कराते हुए समाज में युवाओं की अहम भूमिका निभाने की पहल की गई।

इसी के साथ अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस मनाते हुए कार्यक्रम अधिकारी डॉ नम्रता निश्चल त्रिपाठी ने कहा कि महिलाएं जीवन के हर क्षेत्र में कंधे से कंधा मिलाकर चलते हुए अपने दायित्वो को बखूबी निभा रही हैं। तत्पश्चात छात्राओं को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कार्यक्रम अधिकारी डॉ छाया बाजपेई ने कहा कि किसी एक दिन को हम अंतरराष्ट्रीय दिवस न मनाते हुए हर दिन को महिला के सम्मान और समर्पण की भावना से स्वीकार करें।

द्वितीय चरण में डा. दयानंद जैन मेमोरियल हॉस्पीटल की गाईकनोलॉजिस्ट डा. शिखा जैन ने ओमा पर्सनलाइजड प्रेगनेंसी केयर के बारे में स्वयं सेविकाओं को महत्वपूर्ण जानकारी दी। कहा कि हर दिन गर्भावस्था के कारण उचित देखभाल न होने से न जाने कितनी महिलाएं अपनी जान गंवा बैठती हैं। सुरक्षित मातृत्व ही एक स्वस्थ्य भविष्य का निर्माण कर समाज को नई दिशा दे सकता है।

डा. रूपा शर्मा ने कहा कि सही न्यूट्रीशन से बच्चे का समुचित विकास होता है। डा. निशा ने बताया कि जब हम सही डाइट लेंगे तो गर्भावस्था में होने वाले बहुत सारे कॉम्प्लिकेशन से बच सकते हैं। रूपम ठाकुर ने छात्राओं की विभिन्न समस्याओं को समझते हुए भ्रांतियों का निदान किया। कार्यक्रम में विशिष्ट अतिथि शशि अग्रवाल, पूनम गुप्ता एवं नील ने स्वयं सेविकाओं का उत्साहवर्धन करते हुए प्रशंसा की।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -