फिरोजाबाद: समर कैंप में बच्चों को दी जा रही धार्मिक शिक्षा

फिरोजाबाद। आज के भौतिकवादी समय में जहाॅ ज्यादातर लोग पश्चिमी सभ्यता में लिप्त हैं, तो वहीं श्री पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर जैन नगर खेड़ा के संत सदन में बच्चों को विद्वानों द्वारा आलौकिक एवं धार्मिक शिक्षा दी जा रही है।

पार्श्वनाथ दिगम्बर जैन मंदिर कमेटी द्वारा दिगम्बर जैन श्रमण संस्कृति संस्थान सांगानेर के तत्वाधान में इन दिनों बच्चों की समर वेकेशन में श्रुत चेतना बाल पाठशाला में जैन धर्म के मूल विषय एवं भक्तामर स्तोत्र विषयों पर ललितपुर से पधारे शास्त्री अभिषेक जैन एवं शास्त्री सम्यक जैन बच्चों, महिला एवं पुरुषों को संस्कृत एवं प्राकृत भाषा को हिन्दी में अनुवाद कर शिक्षा दे रहे हैं।

आदीश जैन ने बताया कि यह धार्मिक शिक्षा शिविर 20 मई से प्रारम्भ हुआ, जो कि 30 मई तक चलेगा। 31 मई को सभी विषयों की परीक्षा के पश्चात् परीक्षा परिणाम घोषित किया जायेगा। इस विशेष शिविर में पाँच वर्ष के बच्चे के साथ-साथ बुजुर्ग महिला-पुरुष भी शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं।

ललितपुर से पधारे विद्वानों ने बताया कि श्री दिगम्बर जैन श्रमण संस्कृति संस्थान जो सांगानेर में स्थित है वहाँ के शिक्षक समस्त भारत में अनेकों जगह इन दिनों धार्मिक शिक्षा देने के लिए जाते हैं। उन्होंने बताया कि इस भौतिकवादी युग में बच्चों को सँस्कारित करना ही इस संस्था का मूल उदेश्य है।

शिविर का आयोजन मंदिर कमेटी के अध्यक्ष डेविड जैन, मास्टर भानु कुमार जैन, स्नेह कुमार जैन, विनोद जैन बोहरे, राजेश जैन, मुकेश जैन, गौरव जैन, राजीव जैन, रवि कुमार जैन, संजीव कांत जैन, नीतेश जैन, संजय जैन, आदि मौजूद रहे।

 

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218