फिरोजाबाद: विश्व महामारी दिवस पर सरोजनी नायडू स्कूल में आयोजित हुई जागरूकता संगोष्ठी

फिरोजाबाद। विश्व महामारी दिवस पर प्रमुख स्वयंसेवी संस्था चाइल्ड फंड इंडिया के द्वारा सरोजिनी नायडू जूनियर हाईस्कूल बौधाश्रम में प्रधानाचार्य भगवान दास शंखवार की अध्यक्षता में एक जन जागरूकता संगोष्ठी का आयोजन किया गया। जिसमें किशोरियों को माहवारी के संबंध में जागरूक किया गया।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता अर्बन पीएचसी दम्मामलनगर के प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर कुलदीप कुमार ने कहा कि महावारी के अभाव में नई अधूरी है इसलिए यह कोई संकोच का विषय नहीं है, पीरियड के दौरान सभी महिलाओं को सेनेटरी पैड का इस्तेमाल करना चाहिए। राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के जिला कार्यक्रम प्रबंधक प्रबल प्रताप सिंह ने कहा कि महावारी विषय पर जगत के अभाव में हमारी माताएं बहने अनेक बीमारियों की शिकार हो जाती हैं, शासन और स्वास्थ्य विभाग भी इस विषय को लेकर गंभीर हैं।

इससे पूर्व प्रगति युवा विकास समिति के द्वारा संचालित यूथ क्लब की किशोरियों ने महावारी जागरूकता विषय पर आधारित कई नाट्य प्रस्तुतियों दी और नृत्य गीत प्रस्तुत किए। कार्यक्रम संयोजिका पेस दिशा संस्था की हेल्थ कोर्डिनेटर प्रभा आर्या ने सभी अतिथियों एवं आगंतुकों का आभार व्यक्त किया। कार्यक्रम में प्रस्तुति देने वाली किशोरियों को प्रतीक चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया गया।

इस अवसर पर पेस दिशा संस्था के प्रभारी अधिकारी केसी श्रीवास्तव, प्रमुख समाजसेविका जया शर्मा, पंकज यादव, अनुपम शर्मा, विभूति, चंद्रकांता शंखवार, कुसुमलता, पार्षद पूनम शर्मा, पार्षद मनोज शंखवार, नरेश राठौर, स्नेह लता, शकुंतला, नीतू सिंह, अवधेश जादौन, वंदना शंखवार, बिंदु सविता, आस्था सक्सेना आदि उपस्थित रहे।

 

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218