फिरोजाबाद: पत्रकारिता हमेशा उद्देश्य परक ही रहनी चाहिए-अनूप चंद्र जैन

-हिंदी पत्रकारिता दिवस पर दो वरिष्ठ पत्रकारों को किया सम्मानित

फिरोजाबाद। हिंदी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट यूपी के तत्वावधान में एस.एच.जे. माॅर्डन स्कूल में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इस अवसर पर दो वरिष्ठ पत्रकारों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में वक्ताओं ने सकारात्मक पत्रकारिता और उसके मूल धर्म को संरक्षित बनाये रखने का आवाहन किया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि नगर विधायक मनीष असीजा ने कहा कि समय के अनुसार पत्रकारिता व्यवसायकिता की ओर बड़ रही है, किंतु पत्रकारिता के मूल धर्म के संरक्षण के लिए पत्रकारों के कलम की ही जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा पत्रकार की कलम पैनी होने के साथ उनके सवालों की सोच भी सकारात्मक रहनी चाहिए। ब्यूरोक्रेसी पर भी बराबर पैनी नजर भी जरूरी है। पत्रकार की लेखनी और उसके मार्गदर्शन से लोकतंत्र मजबूत होगा।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता अनूप चंद्र जैन एडवोकेट ने कहा आज के दिन गर्व की बात है हिंदी पत्रकारिता ने सभी भाषाओं की पत्रकारिता को काफी पीछे छोड़ दिया है। आज के समय में हिंदी का समाचार पत्र पाठकों को पढ़ने को मिल जाता है। समय के अनुसार पत्रकारिता का स्वरूप जरूर बदला है। पहले पत्रकारिता मिशन हुआ करती थी, आज पूरी तरह व्यावसायिक होती जा रही है। किंतु पत्रकारो को अपने मूल उद्देश्य से नहीं भटकना चाहिए, पत्रकारिता हमेशा उद्देश्य परक ही रहनी चाहिए।

उन्होंने विधायक के समक्ष एक प्रस्ताव रखते हुए कहा पत्रकारों को आवास सुविधा मुहैया कराने के लिए जिले में कॉलोनी का निर्माण किया जाना चाहिए, जिससे सभी पत्रकारों को आवास सुविधा उपलब्ध हो सके। वरिष्ठ पत्रकार एनयूजे के प्रांतीय उपाध्यक्ष द्विजेन्द्र मोहन शर्मा ने कहा कि सभी साथियों को पत्रकारिता के सिद्धांतों का ईमानदारी से पालन करते हुए पत्रकारिता धर्म को निभाना चाहिए, उसी से उनका भी सम्मान है। वरिष्ठ पत्रकार दीपक जैन ने कहा आज के समय में पत्रकारिता एक चुनौती पूर्ण कार्य हो गया है। पत्रकारिता समाज का आईना है। हमें अपने पत्रकारिता धर्म पर खरा उतरने का प्रयास करना चाहिए।

प्रो. प्रभासकर राय ने कहा कि पत्रकारिता प्रजातंत्र की रीड है, सूचनाओं के आदान-प्रदान में पत्रकारों की विशेष भूमिका रहती है पत्रकार समाज को स्वस्थ और सुदृढ बनने का काम करते हैं। प्रो. डॉ अग्रसेन पांडे ने कहा कि हिंदी पत्रकारिता का उद्भभ कोलकाता के उदंत मार्तंड अखबार के प्रकाशन से हुआ था। हमारे देश की स्वतंत्रता और विकास में पत्रकारों का बहुत बड़ा योगदान रहा है। कार्यक्रम में कल्पना राजोरिया, डॉ निधि गुप्ता, सुनील शर्मा, रमाकांत उपाध्याय, ओमप्रकाश शर्मा, राजीव शर्मा ने भी अपने विचार प्रकट किये।

संस्था के जिलाध्यक्ष दीपक सोलंकी ने सभी अतिथियों के प्रति आभार व्यक्त किया। हिंदी पत्रकारिता दिवस के अवसर पर मुख्य अतिथि द्वारा वरिष्ठ पत्रकार दीपक जैन और सुनील वशिष्ठ को संस्था की ओर से सम्मान पत्र और अंग वस्त्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन संयोजक राकेश कुमार शर्मा और उमाकांत पचोरी ने संयुक्त रूप से किया।

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218