फिरोजाबाद: आईजी ने प्रशासनिक अधिकारियों संग संभाला मोर्चा

-मृतक की पत्नी को चेक देने के बाद उठवाया शव

फिरोजाबाद। हिमांयूपुर में शुक्रवार की देर रात हुए बबाल के बाद घंटों तनावनपूर्ण स्थिति बनी रही। चैराहे पर एक ओर पुलिस की टीमें तैनात थीं, तो दूसरी ओर गलियों मं अराजकतत्वों का पथराव। ऐसे में मध्य रात्रि में आईजी ने पहुंचकर स्थिति संभाली। मृतक की पत्नी को पांच लाख का चेक दिलाने के बाद ही एंबुलेंस से शव को घर भिजवाया।

आईजी दीपक कुमार फिरोजाबाद में मध्य रात्रि में पहुंच थे। बवाल की सूचना के बाद आईजी के साथ डीएम रमेंश रंजन, एसएसपी सौरभ दीक्षित लगातार चैराहे पर मौजूद रहे। बवाल करने वालों का शोर थमा, तो पुलिस ने तोड़फोड का शिकार हुई एंबुलेंस में रखे मृतक आकाश के शव को हटवाने की तैयारी शुरू की, ताकि फिर से हंगामा न शुरू हो जाए। रात में ही प्रशासन ने आर्थिक सहायता का चैक तैयार कराया।

परिवार के मुआवजे की मांग के बीच लेकर कई बार शव को एंबुलेंय से हटवाने के लिए तैयार की, लेकिन परिवार के गुस्से को लेकर आईजी ने कहा कि पहले चेक दिया जाएगा, तब शव को हटाएंगे। देर रात एडीएम विशु राजा और एसपी सिटी सर्वेश मिश्र ने आकाश की पत्नी प्रीती को परिवार की मौजूदगी में बवाल वाले चैराहे पर एंबुलेंस के पास ही पांच लाख रू की आर्थिक सहायता का चेेेक दिया। इसके अलावा सरकारी योजनाओं में मदद करने का आश्वासन दिया, तब शव को घर पहुंचाया।

 

 

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218