फिरोजाबाद: 47.47 करोड़ की लागत से बनने वाले ग्लास म्यूजियम का पर्यटन मंत्री ने किया शिलान्यास

-अंतरराष्ट्रीय पहचान बनेगा फिरोजाबाद का कांच उद्योग

फिरोजाबाद। रविवार को जिला मुख्यालय पहुंचे प्रदेश सरकार के पर्यटन मंत्री ठा. जयवीर सिंह ने पर्यटन विभाग द्वारा 25 बीघा भूमि पर 47.47 करोड़ की लागत से बनाए जाने वाले ग्लास म्यूजियम, आडिटोरियम व पर्यटन सूचना केंद्र निर्माण का शिलान्यास किया। उन्होंने इसे सरकार की बड़ी उपलब्धि बताया।

उन्होंने कहा कि सरकार का उद्योग पर ध्यान है। निर्माण के लिए प्रथम किस्त के रूप में छह करोड़ रुपये की धनराशि प्राप्त हो चुकी है। शासन द्वारा नामित कार्यदायी संस्था यूपीपीसीएल निर्माण इकाई-चार आगरा द्वारा प्रोजेक्ट पर कार्य किया जाएगा। उन्होंने कहा कि फिरोजाबाद की पहचान कांच से हैं। यहां की कांच की चूडियां और कांच के उत्पाद पूरे देश में भेजे जाते हैं। अभी तक विधिवत औपचारिक प्लेटफार्म नहीं था। जहां विदेश से आने वाले या यहां से भेजने वाले निर्यातकों के लिए यहां पर गिलास म्यूजियम मील का पत्थर साबित होगा। यहां उत्तम तकनीकि के द्वारा बनते हुए कांच के उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई जाएगी।

विदेशी राजपूतों के माध्यम से म्यूजियम और कांच उद्योग की पहचान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देने का काम करेंगे। जो पर्यटक आगरा ताजमहल, आगरा किला, फतेहपुर सीकरी आते हैं, उन्हें फिरोजाबाद का म्यूजियम आकर्षित करेगा। इस अवसर पर प्रदेश सरकार की विभिन्न लाभार्थीपरख योजनाओं के लाभार्थियांे को स्वीकृति पत्र, प्रधानमंत्री आवास की चाबी, विद्यार्थियों को टेबलेट, कृषि विभाग के लाभार्थियों को चेक आदि वितरण किया गया। कार्यक्रम में भाजपा जिलाध्यक्ष उदय प्रताप सिंह, महानगर अध्यक्ष राकेश शंखवार, मेयर कामिनी राठौर, नगर विधायक मनीष असीजा, टूंडला विधायक प्रेमपाल धनगर, डीएम रमेश रंजन, एसएसपी सौरभ दीक्षित, सीडीओ दीक्षा जैन, ब्लॉक प्रमुख अरांव कमलेश राजपूत, डॉ.रामकैलाश यादव, सीए अवधेश पाठक सहित भाजपा पदाधिकारी उपस्थित रहे।

हम अयोध्या नहीं फैजाबाद हारे-ठा. जयवीर सिंह

शिलान्यास उपरांत अयोध्या की हार के सवाल का जवाब देते हुए कहा कि हम अयोध्या नहीं हारे फैजाबाद पार्लियामेंट हारे हैं। नीट परीक्षा और भर्ती परीक्षा लीक होने के सवाल पर कहा कि ऐसा करने वालों के खिलाफ सरकार सख्त है। ऐसा कानून आया है कि उनकी आने वाली तीन पीढ़ी इस तरह का काम करने की हिम्मत नही कर पाएंगी। फिरोजाबाद में हुए बंदी की मौत के मामले में अखिलेश और बसपा सुप्रीमों तक के ट्वीट करने और बीजेपी नेता के न पहुंचने के सवाल पर कहा कि मामले की जांच हो रही है। सरकार काम कर रही है। ट्वीट करने से परिवार का कोई भला नही होने वाला है। रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई होगी। राजनीति रोटियां सेंकने से कोई फायदा नही।

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218