फिरोजाबाद: मुख्यमंत्री के आदेशो की धज्जियां उड़ा रहे बिजली विभाग के अधिकारी

-बूंदाबांदी से पूरी रात गुल रही बत्ती, सुबह पानी की एक-एक बूंद के लिए तरसे लोग

फिरोजाबाद/शिकोहाबाद। मानसून की दस्तक बुधवार की रात से जनपद में हो गई। मानसून की काली घटाओं को देखते ही विद्युत विभाग की चाल बदल गई। बारिश ने बुधवार की पूरी रात लोगों को परेशान किया। बिजली के अभाव में लोग पूरी रात इधर-उधर टहलते रहे। गुरूवार को शाम चार बजे तक भी बिजली गुल रही। लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए परेशान रहे।

बुधवार रात एक बजे से लाइट ने आंख मिचैली खेलना शुरू कर दिया। रात में लोग गर्मी से परेशान रहे। गुरूवार सुबह लाइट न आने पर लोग पानी की एक-एक बूंद के लिए तरसते दिखाई दिए। वहीं देर शाम चार बजे विद्युत सप्लाई सुचारू हो सकी। इस दौरान घरों में लगे इन्वर्टर भी जबाब दे गये। लोग उमसभरी गर्मी से बैचन दिखाई दिए। हर कोई बिजली विभाग के अधिकारियों से फोन कर बिजली आने की जानकारी लेता रहा। लेकिन विभाग के अधिकारी किसी को सही जबाब नहीं दे सके।  प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ ने 24 घंटे बिजली सुचारू रखने के सख्त निर्देश दिए। लेकिन बिजली विभाग के अधिकारी मुख्यमंत्री के आदेशों की अवेलहना कर रहे है।

वहीं शिकोहाबाद में भी बिजली रात दस बजे से गुल रही। जिससे लोग उमसभरी गर्मी से परेशान दिखाई दिए। एसडीओ शिकोहाबाद विवेक शर्मा ने बताया कि रात 12 बजे से सुबह चार बजे तक विद्युत आपूर्ति नहीं हो सकी। इसका मुख्य कारण नौशहरा में 133 केवीए की लाइन में फॉल्ट आना रहा। उन्होंने बताया कि 133 केवीए की लाइन में फॉल्ट से पूरे शहर की लाइट बंद रही। यह रात 12 से तीन बजे तक रही। इसके बाद लाइन के फॉल्ट को सही कर लाइट चालू की, तो 11केवीए की लाइन में फॉल्ट हो गया। यह फाल्ट इतना माइनर था कि उसे ढूंढने में काफी मशक्कत करनी पड़ी। सुबह चार बजे के करीब आकर फाल्ट को सही करा सके। जिसके बाद विद्युत आपूर्ति सुचारू की गई।