RBI की कार्रवाई ने भावनात्मक रूप से झकझोर दिया… पेटीएम के संस्थापक का छलका दर्द

पेटीएम (Paytm) के संस्थापक और सीईओ विजय शेखर शर्मा (Vijay Shekhar Sharma) ने कंपनी का वैल्यूएशन 100 अरब डॉलर तक पहुंचाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य निर्धारित किया है। हालांकि, यह लक्ष्य हासिल करना पेटीएम के लिए एक बड़ी चुनौती साबित हो सकता है, क्योंकि हाल ही में RBI की कार्रवाई के बाद कंपनी का वैल्यूएशन घटकर लगभग 3.5 अरब डॉलर रह गया है। विजय शेखर शर्मा इस समय कंपनी को इस नियामकीय संकट से उबारने और उसे नए सिरे से खड़ा करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने इस साल की शुरुआत में नियमों के पालन में खामियों के कारण पेटीएम पेमेंट्स बैंक लिमिटेड (PPBL) पर कड़े कारोबारी प्रतिबंध लगाए थे, जिसके परिणामस्वरूप कंपनी को अपना मुख्य व्यवसाय बंद करना पड़ा।

मेरी कंपनी मेरी बेटी जैसी है
विजय शेखर शर्मा ने कहा कि वह इससे भी कठिन समय का सामना कर चुके हैं। उन्होंने कहा, ”जब मैं 2013-14 के दौरान फंड जुटाने की कोशिश कर रहा था, तब हमारी वित्तीय स्थिति बेहद नाजुक थी। मैंने सोचा कि अगर हम असफल हो गए तो किसी को कोई फर्क नहीं पड़ेगा। आज यह मामला अहमियत रखता है। एक संस्थापक के रूप में मेरी कंपनी मेरे लिए मेरी बेटी जैसी है। एक कंपनी के रूप में हम विकसित हो रहे हैं। यह वैसा ही है जैसे स्कूल में अव्वल आने वाली बेटी किसी प्रवेश परीक्षा के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गई हो। यह एक ऐसा अनुभव है जो व्यक्तिगत और भावनात्मक रूप से जुड़ा हुआ है।”

सरकार की स्टार्टअप के प्रति सराहना

विजय शेखर शर्मा ने कहा कि सरकार ने स्टार्टअप्स को मुख्यधारा में लाकर उनके लिए वाकई एक स्वर्णिम युग की शुरुआत की है। उन्होंने कहा कि यह उन दिनों से एक चौंकाने वाला बदलाव है, जब स्टार्टअप को करियर के रूप में अपनाने को सबसे निचले स्तर पर माना जाता था।

शर्मा ने कहा कि भारत अब उस दौर से काफी आगे बढ़ चुका है जब नौकरी चाहने वाले लोग विदेश जाना या विदेशी आईटी कंपनियों अथवा बड़ी घरेलू प्रौद्योगिकी कंपनियों में नौकरी पाना पसंद करते थे। उन्होंने कहा कि अब कॉलेज से निकलने वाले और नौकरी के इच्छुक युवा विदेश में नौकरी तलाशने के बजाय भारत में ही अवसर खोजना पसंद करते हैं।

गौरव झा
गौरव झा

गौरव झा एक समर्पित और अनुभवी पत्रकार हैं, जो विभिन्न विषयों पर गहन और सूचनाप्रद लेखन के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने अपनी पत्रकारिता यात्रा में कई प्रमुख समाचार संस्थानों के साथ काम किया है और अपने निष्पक्ष और तथ्यपूर्ण रिपोर्टिंग के लिए प्रशंसा प्राप्त की है। राजनीति, सामाजिक मुद्दों और तकनीकी समाचारों में उनकी विशेष रुचि और विशेषज्ञता है। गौरव झा का उद्देश्य सदैव सच्चाई और निष्पक्षता के साथ पाठकों को सूचित करना है। पत्रकारिता के प्रति उनकी निष्ठा और जुनून उन्हें एक सम्मानित और विश्वसनीय पत्रकार बनाता है।

Articles: 26