फिरोजाबाद: पर्यटन मंत्री ने आवास पर सुनीं जनता की समस्याएं

फिरोजाबाद। उत्तर प्रदेश सरकार के पर्यटन एवं संस्कृति मंत्री जयवीर सिंह ने रविवार को सिरसागंज स्थित अपने कैंप कार्यालय पर सुबह 10 बजे से दूर दराज क्षेत्र से आए लोगों की शिकायतों को गम्भीरता से सुना और उनका निस्तारण कराया। उन्होने कुछ फरियादियों के प्रार्थना पत्र को सम्बन्धित अधिकारियों से फोन पर वार्ता कर मौके पर ही निस्तारण कराया। शेष शिकायतों को उपस्थित अधिकारियों को एक सप्ताह के अन्दर गुणवत्ता के साथ निस्तारण करने के निर्देश दिए।

जन सुनवाई कार्यक्रम में स्थानीय लोगों के अतिरिक्त मैनपुरी, इटावा, एटा, फिरोजाबाद सहित अन्य जनपदों से भी फरियादी आए। उनकी समस्याओं को गम्भीरता से लेते हुए सम्बन्धित अधिकारियों से फोन पर वार्ता कर निस्तारण कराया। उन्होने पीडब्ल्यूडी विभाग के कार्यों में लापरवाही व शिथिलता की प्राप्त एक शिकायत पर पीडब्ल्यूडी विभाग के अधिकारियों पर नाराजगी व्यक्त की। उन्हे निर्देश दिए कि वह अपने विभागीय सभी कार्यों में तेजी लाऐं।

उन्होने कहा कि सड़कों के गढढे व सड़कों के किनारें जलभराव की निकासी एवं सड़कों की पटरियों की मरम्मत आदि कार्यों को तेजी से कराया जाए। उन्होने जन शिकायतें सुनने के दौरान कहा कि अधिकारी जन शिकायतों के प्रति संवेदनशील रहें। आमजन की शिकायतों का समयबद्ध गुणवत्तापरक निराकरण किया जाए। ताकि किसी भी व्यक्ति को अपनी समस्या के समाधान के लिए बार-बार चक्कर न लगाने पड़ें। जन.शिकायतों का समयबद्ध, गुणवत्तापरक निराकरण प्रदेश सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में हैं।

यदि किसी भी अधिकारी, कर्मचारी के द्वारा शिकायतों के निराकरण में कोताही बरती गई या किसी भी स्तर पर शिकायत के निस्तारण में विलंब किया गया, तो संबंधित अधिकारी, कर्मचारी की जिम्मेदारी तय की जाएगी। वहीं उन्होने बेबुनियादी शिकायत लेकर आने वालों पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्हे समझाया कि वह अपना कीमती समय व ऊर्जा को अपने परिवार, समाज व राष्ट्र के उत्थान में लगाए। पर्यटन मंत्री के जनसुनवाई कार्यक्रम के दौरान उप जिलाधिकारी सिरसागंज आदेश सागर, पुलिस क्षेत्राधिकारी सिरसागंज सहित संबंधित अधिकारी कर्मचारी सहित बड़ी संख्या में फरियादी उपस्थित रहं।

 

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2244