फिरोजाबाद: महिला शिक्षकों ने आनलाइन उपस्थिति का किया विरोध, डीएम को सौंपा ज्ञापन

फिरोजाबाद। उ.प्र. महिला शिक्षक संघ की प्रदेश अध्यक्ष सुलोचना मौर्य के आह्वान पर महिला शिक्षक संघ की जिलाध्यक्ष रीमा यादव के नेतृत्व में भारी संख्या में महिला शिक्षिकाओं ने जिलाधिकारी कार्यालय पर पहुंच कर ऑनलाइन उपस्थिति के विरोध में एक ज्ञापन सौंपा।

जिलाध्यक्ष रीमा यादव ने कहा कि डिजिटल उपस्थिति के खिलाफ आंदोलन पूरे प्रदेश के हर जनपद में हो रहा है, सभी शिक्षकों में रोष है कि समाज में उनकी गरिमा को तारतार किया जा रहा है। आम जनता हंसी बना रही है। क्या ऑनलाइन अटेंडेंस से ही सारी समस्याएं खत्म हो जाएगी, शिक्षकों को चुनाव ड्यूटी, पोलियो ड्यूटी, तमाम तरह के सर्वे करने, भूसा ढोने जैसे गैर शैक्षणिक कार्यों में लगाया जाता है। स्कूलों में बुनियादी सुविधाएं नहीं, कहीं फर्नीचर नहीं, कहीं बिजली नहीं, बहुत सी जगह पर तो नेटवर्क की समस्या है, इन समस्याओं का समाधान निकाले बगैर अव्यावहारिक आदेश जारी करने से शिक्षकों को भावनात्मक एवं मानसिक चोट पहुंचती है।

ज्ञापन देने वालों में महामंत्री वंदना तोमर, नीलम यादव कोषाध्यक्ष, वरिष्ठ उपाध्यक्ष नीति यादव, संयुक्त मंत्री रेनू यादव, मीडिया प्रभारी दीपमाला यादव, मंत्री मधु चैहान, मिली यादव, शिखा, गीतांजलि, पारुल, नीतू, प्रिया आरती, दसलेश, प्रगति, सारिका, गीता, शारदा, विनीता, मंजुलता, प्रियंका, इरम, भारती, पवन, गरिमा, कीर्ति, शिखा, सपना, गुंजन, वीना राठौर, आकांक्षा, संगीता, नीतेश, सरिता, सुनीता, मुबीना, आकांक्षा चैहान, पूजा, रागिनी, इंदु राठौर, मोनिका करुणा आदि रही। .

 

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2244