शिकोहाबाद: अधिवक्ताओं की हड़ताल जारी

-एफआईआर पर भी उठाये सवाल, रजिस्टार को हटाने की मांग

शिकोहाबाद। जमीन घोटाले में शासन ने एसडीएम सहित छह कर्मचारियों को सस्पेंड कर दिया। इसके बाद उनके खिलाफ एफआईआर भी दर्ज करा दी। लेकिन अधिवक्ता अभी भी संतुष्ट नहीं दिख रहे हैं।

गुरुवार को भी तहसील बार एसोसिएशन के नेतृत्व में अधिवक्ताओं की हड़ताल बदस्तूर जारी है। अधिवक्ताओं की मांग है कि सब रजिस्टार गौरव वर्मा को भी हटाया जाए। अधिवक्ताओं ने एफआईआर पर भी सवाल उठाये हैं। अधिवक्ताओं का कहना है कि प्रशासन ने जो प्राथमिकी दर्ज की है, वह पुराने कानून में दर्ज है। लेकिन एक जुलाई से कानून में संशोधन होने के बाद नए कानून के धाराओं में प्रशासन ने प्राथमिक दर्ज नहीं की है। इससे वकीलों में अभी भी आक्रोश व्याप्त है। इसी क्रम में गुरुवार को तहसील परिसर में नारेबाजी करते हुए अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरत रहे।

जमीन घोटाले में एसडीएम विवेक राजपूत सहित 19 पर धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

फिरोजाबाद/सिरसागंज। जमीन घोटाले की जांच शासन तक पहुंचने के बाद विशेष सचिव ने जिलाधिकारी द्वारा भेजी गई आख्या पर थाना पुलिस को संबंधित अधिकारियों सहित अन्य लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने के निर्देश दिये गये। जिसके बाद पुलिस ने तत्कालीन एसडीएम विवेक राजपूत सहित 19 लोगों के खिलाफ धोखाधड़ी, षणयंत्र और फसल बर्बादी करने की सुसंगत धाराओं में मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

योगेंद्र कुमार दत्तक पुत्र भगवती कुमारी निवासी रुधैनी ने जिलाधिकारी रमेश रंजन को शिकायती पत्र देते हुए न्याय की गुहार लगाई थी। जिस पर विशेष सचिव उत्तर प्रदेश लखनऊ ने कहा कि यह प्रकरण स्पष्टतः एक अपराधिक षणयंत्र का है। इसके अंतगर्त अधिकारियों, कर्मचारियों के विरुद्ध सुसंगत धाराओं में एफआईआर दर्ज कराने के लिए जिलाधिकारी को निर्देशित किया गया। योगेंद्र ने 24 जून को जिलाधिकारी को शिकायती प्राथर्ना पत्र दिया था। जिसमें शिकायत की गई थी कि राजस्व अधिकारियों की मिली भगत से जमीन हड़पने के षणयंत्र व फसल की बर्वादी के संबंध में शिकायत की गई थी।

विशेष सचिव के निर्देश के बाद जिलाधिकारी की संस्तुति पर थाना सिरसागंज पुलिस ने तत्कालीन एसडीएम विवेक कुमार राजपूत, तत्कालीन नायब तहसीलदार नवीन कुमार, लेखपाल अभिलाष सिंह, रीडर न्यायालय एसडीएम प्रमोद कुमार शाक्य, राजस्व निरीक्षक मुकेश चैहान के अलावा सर्वेस सिंह, मनोज कुमार करसौलिया, अर्जुन सिंह गुर्जर निवासी बगरा शहर जालौन, प्रवेश कुमार निवासी नहलई फिरोजाबाद, राजश्री चाहर व महीपाल सिंह चाहर निवासी डिफेंस कॉलोनी आगरा नगर, प्रदीप कुमार करसौलिया, अनीता चाहर निवासी डिफेंस कॉलोनी आगरा, प्रशांत कुमार करसौलिया, अजीत कुमार निवासी नगला खंदारी सिरसागंज, प्रवीन कुमार करसौलिया, पप्पू निवासी नेपई फिरोजाबाद, दीपक राजपूत और अनीता सिंह निवासी डिफेंस कॉलोनी आगरा शामिल हैं।

इस संबंध में एसपी ग्रामीण कुमार रणविजय सिंह ने बताया कि जिलाधिकारी की संस्तुति पर तत्कालीन एसडीएम विवेक राजपूत सहित 19 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है। मामले की जांच की जा रही है।

 

Dinesh
Dinesh

दीनेश वशिष्ठ एक अनुभवी और समर्पित पत्रकार हैं, जो पत्रकारिता के क्षेत्र में अपनी गहन समझ और निष्पक्ष रिपोर्टिंग के लिए प्रसिद्ध हैं। उन्होंने पत्रकारिता में कई वर्षों का अनुभव अर्जित किया है। दीनेश की विशेषता उनकी गहरी शोध क्षमता और सत्य को उजागर करने की प्रतिबद्धता है। उन्होंने कई महत्वपूर्ण घटनाओं को कवर किया है और उनके रिपोर्ट्स ने समाज पर सकारात्मक प्रभाव डाला है।

Articles: 688