एआइएमआइएम प्रत्याशी और उनके समर्थकों को पुलिस ने किया हवालात में बंद, बाद में छोड़ा

फिरोजाबाद। फिरोजाबाद सदर सीट के एआइएमआइएम प्रत्याशी व पुलिस के बीच तकरार हो गई। इस बीच थाने पर जमकर हंगामा हुआ। आरोप है कि पुलिस ने प्रत्याशी और उनके समर्थकों को हवालात में बंद कर दिया। प्रत्याशी की गाड़ी से प्रचार सामग्री मिलने के बाद मामला तूल पकड़ गया था। बाद में पुलिस ने समझा बुझाकर उन्हें छोड़ दिया। प्रत्याशी ने दो के विरुद्ध थाने में तहरीर दी है।

शनिवार को एआइएमआइएम प्रत्याशी बबलू राठौर गोल्डी आसफाबाद की तरफ से नगला बरी स्थित पार्टी कार्यालय लौट रहे थे। प्रत्याशी के मुताबिक रसूलपुर थाने के सामने पुलिस वाहनों की चेकिंग कर रही थी। एसएसआइ शिवभान सिंह राजावत ने उनकी कार को रोक कर चेकिंग की तो उसमें काफी संख्या में हैंड बिल, प्रत्याशी का लेटर पैड और प्रचार सामग्री मिली। पुलिस ने कार सवार उनके समर्थक से प्रचार सामग्री थाने पर रखवा दिया। एसएसआइ ने कार चालक और कार में बैठे लोगों से चुनाव सामग्री का बिल मांगा लेकिन वह नहीं दिखा सके। इस बीच बबलू राठौर समर्थकों के साथ थाने पहुंच गए। इसके बाद राठौर और उनके समर्थकों की पुलिस से तकरार शुरू हो गई। समर्थकों ने प्रत्याशी गोल्डी राठौर उनके समर्थकों के साथ गाली गलौज करने का आरोप लगाते हुए हंगामा शुरू कर दिया। प्रत्याशी का आरोप है कि पुलिस ने उन्हें और उनके समर्थकों को हवालात में डाल दिया। सूचना पर सीओ सिटी हरिमोहन सिंह, इंस्पेक्टर उत्तर संजीव कुमार दुबे और इंस्पेक्टर दक्षिण रामेंद्र कुमार शुक्ला भी फोर्स के साथ रसूलपुर थाने पर पहुंचे। पुलिस ने समझाकर प्रत्याशी और उनके समर्थकों को बाहर निकाला। प्रत्याशी ने भाजपा विधायक पर आरोप लगाते हुए इस कार्रवाई को उनकी साजिश बताया।

प्रकरण की जांच कर होगी कार्रवाई
हवालात से निकलने के बाद प्रत्याशी ने अभद्रता करने वाले एक हेड मुहर्रर और एक चेकिंग अधिकारी के विरुद्ध तहरीर दी है। इस मामले में सीओ हरिमोहन सिंह का कहना है कि चेकिंग के दौरान प्रत्याशी बबलू राठौर गोल्डी की पुलिसकर्मियों से तकरार हुई थी। उन्होंने दो के विरुद्ध तहरीर दी है। पूरे प्रकरण की जांच कराई जा रही है। कार के अंदर मिली प्रचार सामग्री का खर्चा चुनावी खर्चे में जुड़वाने का काम किया जाएगा। किसी प्रकार की मारपीट नहीं की गई और न हीं प्रत्याशी को हवालात में डाला गया है। इस मामले में एसपी सिटी मुकेश चंद्र मिश्रा का कहना है कि हवालात में डालने की मुझे जानकारी नहीं है।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -