ओलावृष्टि से हुए नुकसान का आंकलन न होने से नाराज किसान धरने पर बैठे

किसानों ने लगाए मतदान बहिष्कार के पोस्टर, दो दिन में सुनवाई न होने पर रास्ता जाम करने की चेतावनी

फिरोजाबाद। ओलावृष्टि और बारिश से फसल को हुए नुकसान का अभी तक आंकलन न किए जाने से नाराज किसान धरने पर बैठ गए। मतदान बहिष्कार के पोस्टर चस्पा कर दिए। प्रत्याशियों से गांव में न घुसने की अपील की है। दो दिन में सुनवाई न होने पर रास्ता जाम कर प्रदर्शन करने की चेतावनी दी है।

मामला थाना नारखी क्षेत्र के फतेहपुर गांव का है। रविवार सुबह गांव के किसान एकजुट हो गए और जूनियर हाई स्कूल के समीप तिरपाल डालकर धरने पर बैठ गए। किसानों ने बताया कि आठ जनवरी को हुई ओलावृष्टि और बारिश से किसानों की फसल को काफी नुकसान हुआ था। कई किसानों की पूरी फसल ही नष्ट हो गई थी। मिर्च, गेहूं, आलू समेत अन्य फसलों को काफी नुकसान पहुंचा था। अधिकारियों ने मौके पर पहुंचकर जायजा लिया था और मुआवजे का आश्वासन दिया था। लेकिन अभी तक कोई लेखपाल न तो नुकसान के आंकलन के लिए पहुंचा और न हीं उन्हें मुआवजा दिलवाने के प्रयास किए गए।

धरने पर बैठे किसानों ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि दो दिन के अंदर लेखपाल या अन्य किसी अधिकारी ने नुकसान का आंकलन नहीं किया तो मजबूरन किसान कोटला-फरिहा रोड को जाम करने के लिए बाध्य होंगे। ग्रामीणों का कहना है कि गांव तक जाने के लिए कोई रास्ता भी नहीं है। कच्चा रास्ता दलदल बन जाता है। ग्रामीण नारकीय जीवन यापन कर रहे हैं। ग्रामीणों ने विकास कार्य न होने और मुआवजा न मिलने को लेकर गांव में मतदान बहिष्कार के पोस्टर चस्पा कर दिए हैं।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -