फिरोजाबाद- कांग्रेस के इमरान प्रतापगढ़ी ने भाजपा सरकार पर जमकर बोला हमला

फिरोजाबाद। कांग्रेस के राष्ट्रीय चेयरमेन अल्पसंख्यक विभाग के इमरान प्रतापगढ़ी ने रसूलुपर स्थित वकीलपुरा फल मंडी में कांग्रेस प्रत्याशी संदीप तिवारी के समर्थन में एक जनसभा को संबोधित किया। उन्होने कहा कि आज सियासी गुफ्त-गू करने आया हूॅ। याद रखना जामियां की बेटियों पर लाठी बरस रही थी, उस वक्त कौन साथ खड़ा था। नौजवानों की छाती पर गोली चल रही थी तब ठेकेदारी करने वाले नेता कहां थे, सिर्फ कांग्रेस खड़ी थी। इस बार डरना नामुमकिन है, क्योंकि बात वजूद की है। लोग हिंदू एवं मुसलमान बनकर वोट मांगते हैं, मैं इंसान बनकर वोट लेने आया हूं।

उन्होंने कहा कि हुक्मरान चाहते हैं जम्हूरियत खत्म हो जाए। हम नहीं भूल सकते हैं यह हमारा भी मुल्क है, यहां कब्रें हैं हमारे बुजर्गों की। इस बार मसले छोटे नहीं हैं। यह लड़ाई जम्हूरियत एवं लोकतंत्र की है। इमरान ने कहा कि भाजपा ऐसा हिंदुस्तान चाहती है, जहां पर एक बेटी हिजाब पहन स्कूल जाए तो तमाम गुंडे नारे लगाने लगते हैं। शिक्षा के मंदिरों में नफरत फैलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा नेता मंच से पूछते हैं मुख्तार अंसारी कहां है। यह क्यों नहीं पूछते किसानों को कुचलने वाला मंत्री का बेटा कहां है। वह जेल से बाहर घूम रहा है। देश के पीएम व मुख्यमंत्री कहते है कि हमने लोगों पांच किलो अनाज मुफ्त दिया हैं। लेकिन अन्नदाता की फसल साड़ नष्ट कर रहे है। आज अन्नदाता भाजपा सरकार से खुश नहीं है।

उन्होंने पीएम नरेन्द्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि वो पूछते हैं 70 सालों में कांग्रेस ने क्या दिया, अरे जिस स्टेशन पर झूठी वाली चाय बेचते थे वो भी कांग्रेस का था। भाजपा ने सिर्फ दंगे दिए। शेर के जरिए भाजपा सरकार पर यूं निशाना साधा मोहब्बत-भाइचारे के दीवाने दिल लौटा दो, वो सस्ती दाल सब्जी के सुहाने दिन लौटा दो, यह अच्छे दिन अडानी अंबानी को मुबारक, हमें ऐसा करो साहब, पुराने दिन लौटा दो। उन्होंने मंच से संदीप तिवारी को वोट देने की अपील की।

इस दौरान अतुल चतुर्वेदी, महानगर अध्यक्ष साजिद बेग, प्रकाश निधि गर्ग, आशीष तिवारी, शैलेंद्र शर्मा, मनीष द्विवेदी, नुरूल हुदा उर्फ लाला राइन, चांद कुरैशी, प्रदेश सचिव एनएसयूआई मो. आजम खान, गुलाम जिलानी, सुबूर अली, सतीश चंद्र अग्रवाल आदि मौजूद रहे।

सीएए एवं किसान मुद्दे पर घेरा भाजपा को
तुमको कितनों का लहू चाहिए, कितनी आंखों से पड़ेगा कलेजा ठंडा… शेर पढ़ते हुए कहा कि सीएए में जिले में सात जवान कुर्बान हुए। 700 किसानों की कुर्बानी सरकार ने ली।

भीड़ के चलते बैठे गाड़ी की छत पर
सभा स्थल तक का रास्ता संकरा था। सभा के बाद जब इमरान उतरे तो हाथ मिलाने एवं फोटो खींचने वालों की भीड़ लग गई। बड़ी मुश्किल से पुलिस उन्हें कार तक लेकर पहुंची, लेकिन भीड़ ने कार को घेर लिया। आखिर में वह कार की छत पर बैठ गए तथा हाथ हिलाकर भीड़ का अभिवादन स्वीकार किया। रसूलपुर थाने तक भीड़ के चलते उन्हें कार की छत पर ही बैठकर सफर करना पड़ा।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -