फिरोजाबाद: समानता और समरसता का संदेश देता है भारतीय संविधान

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तत्वावधान में जगह-जगह संविधान दिवस पर आयोजित हुई विचार गोष्ठी

फिरोजाबाद। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के तत्वावधान में प्रचार विभाग विश्व संवाद केंद्र द्वारा चंद्रनगर महानगर में जगह-जगह संविधान दिवस के अवसर पर गोष्ठी का आयोजन किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ डा. भीमराव अम्बेडकर के चित्र पर माल्यार्पण एवं पुष्प अर्पित कर किया गया।

इस अवसर वक्ताओं ने कहा कि हम सैकड़ों साल परतंत्र रहे। परिणामस्वरूप हमारी किसी भी प्रकार की सहभागिता नहीं थी। उस समय का राज्य तलवारों की नौंक और दबंगई पर चलता था। काफी लंबे संघर्षों के बाद हमने स्वतंत्रता प्राप्त की और प्रजातंत्र प्राप्त हुआ। डॉ भीमराव अम्बेडकर ने 18000 शब्दों का विश्व का सबसे लंबा संविधान अपनी अध्यक्षता में ड्राफ्ट कराया था। इस अवसर पर डॉ भीमराव अंबेडकर के जीवन पर प्रकाश डाला गया। 26 नवम्बर को आज के ही दिन 1949 में संविधान पास हुआ था। संविधान समानता और समरसता का भाव व नैतिक मूल्यों की बात करता है।

इसी प्रकार केशव नगर में एमजी रोड स्थित वंडर वर्ल्ड स्कूल में गोष्ठी का आयोजन हुआ। जिसमें मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के महानगर सह कार्यवाह अभिषेक जी रहे। अम्बेडकर नगर में महादेव नगर स्थित एमएलवी पब्लिक स्कूल में आयोजित गोष्ठी में मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के महानगर प्रचार प्रमुख ललित जी रहे। दीनदयाल नगर में लेबर कॉलोनी स्थित रामलीला मैदान में आयोजित गोष्ठी में मुख्य वक्ता राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विभाग बौद्धिक प्रमुख अमर सिंह रहे।

सुदर्शन नगर में इंद्रा नगर स्थित साक्षी कोचिंग क्लास में गोष्ठी का आयोजन किया गया, जहां दाऊदयाल महिला महाविद्यालय के डायरेक्टर पंकज कुमार मिश्र मुख्य वक्ता रहे। इस अवसर पर प्रमुख रूप से राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ के विभाग सह प्रचार प्रमुख सौरभ, विकास उपाध्याय, ब्रजेश, नानक चंद्र वासवानी, प्रेमचंद्र अग्निहोत्री, मुकेश, सिद्धार्थ, नरेंद्र प्रताप आदि उपस्थित रहे।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -