फिरोजाबाद: रेडक्रॉस सोसाइटी का विश्व में शांति को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण योगदान-अश्वनी जैन

फिरोजाबाद। विश्व रेडक्रॉस और रेड क्रिसेंट दिवस के अवसर पर इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी के आजीवन सदस्य अश्वनी कुमार जैन ने इस दिवस की सभी को शुभकामनाएं प्रदान करते हुए बताया कि विश्व रेड क्रॉस दिवस की शुरुआत प्रथम विश्व युद्ध के बाद की महत्वपूर्ण घटनाओं से हुई थी। उस दौरान रेड क्रॉस ने शांति को बढ़ावा देने में महत्वपूर्ण योगदान दिया था।

सन 1934 में टोक्यो में 15 वें अंतरराष्ट्रीय सम्मेलन में रेड क्रॉस ट्रूस रिपोर्ट प्रस्तुत की गई, जिसमें संघर्षों के दौरान घायल सैनिकों की सुरक्षा के सिद्धांतों को सामने रखा गया था। इसे सन 1946 में द्वितीय विश्वयुद्ध के समय लागू किया गया था। इस प्रस्ताव के कारण रेडक्रॉस स्वयंसेवकों और कर्मचारियों के समर्पण और साहस को पहचानने के लिए 8 मई को हेनरी डुनेन्ट की जयंती का वार्षिक उत्सव मनाया गया था। तभी से इस दिवस को विश्व रेडक्रॉस दिवस के रूप में मनाया जाता है।

उन्होंनेे बताया कि विश्व के सभी व्यक्ति प्रति वर्ष 8 मई को एक साथ मिलकर विश्व रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट दिवस मनाते हैं। यह खास दिन अंतरराष्ट्रीय रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट आंदोलन के अहम विचारों की सराहना करने के लिए दुनिया में भर का कार्यक्रम बन गया है। सभी व्यक्ति इस दिन का उपयोग हेनरी डुनेंट को याद करने के लिए करते हैं। उन्होंने रेड क्रॉस की अंतर्राष्ट्रीय समिति की शुरुआत की। वह नोबेल शांति पुरस्कार जीतने वाले पहले व्यक्ति थे। प्रति वर्ष विश्व रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट दिवस की एक खास थीम होती है। इस दिन हर किसी को शांति के लिए कुछ अच्छा करने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है।

विश्व रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट दिवस 2024 की थीम है। यानी मैं खुशी के साथ देता हूं, और जो खुशी मैं देता हूं वह एक इनाम है। इस थीम में मानवीय कामों में लगे रहने और रेड क्रॉस के मिशन का समर्थन करने से आने वाले खुशियों और पुरस्कार पर फोकस डाला गया है। यह खास दिन लोगों को उदारता, सहानुभूति और निस्वार्थता की भावना को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करता है। रेड क्रॉस के मानवीय प्रयासों के केंद्र में यह लक्ष्य है।

यह खास अवसर रेड क्रॉस और रेड क्रिसेंट मूवमेंट के बेहद मानवीय मूल्यों और गतिविधियों को सामने लाने के लिए काम करता है। रेड क्रॉस संगठन दुनिया भर में तमाम तरह की प्राकृतिक आपदाओं, सशस्त्र संघर्षों और बाकी संकटों से प्रभावित लोगों को राहत और मदद पहुंचाने में बड़ी भूमिका निभाते हैं।

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218