फिरोजाबाद: फिरोजाबाद क्लब में कैंसर चिकित्सा में उत्कृष्ट सेवा करने वाले डाॅक्टर्स हुए सम्मानित

-भारत विकास परिषद मुख्य शाखा का 42 वाॅ अधिष्ठापन एवं दायित्य ग्रहण समारोह सम्पन्न

फिरोजाबाद। भारत विकास परिषद मुख्य शाखा का 42 वां अधिष्ठापन एवं दायित्व ग्रहण समारोह फिरोजाबाद क्लब में संपन्न हुआ। जिसमें नवागत पदाधिकारियों को शपथ दिलाई गई। साथ ही कैंसर चिकित्सा में उत्कृष्ट सेवा करने वाले डाॅक्टर्स को मंच से सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम का शुभारंभ सदर विधायक मनीष असीजा, महापौर कामिनी राठौर, जिला उपभोक्ता आयोग के अध्यक्ष डीडी ओझा, ट्रामा सेंटर के अध्यक्ष पीके जिंदल द्वारा दीप प्रज्वलन कर किया गया। वहीं माल्यार्पण हरिनारायण चतुर्वेदी व केशव दत्त गुप्ता ने किया। मंचासीन अतिथियों का स्वागत संजीव जैन एडवोकेट व अनुपम जैन सीए द्वारा किया गया। कार्यक्रम का आगाज सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ हुआ।

सरस्वती शिशु मंदिर के बच्चों द्वारा सोशल मीडिया के दुरुपयोग के बारे में नाटिका के माध्यम से जागरूक किया गया। वहीं बच्चों ने बढ़ रहे ओल्ड ऐज होम पर नृत्य नाटिका के माध्यम से प्रहार किया। जिसका सदन ने तालियां बजाकर उत्साहवर्धन किया। स्व. महेंश चंद्र जैन की स्मृति में कैंसर चिकित्सा में उत्कृष्ट सेवा करने वाले डॉ मुक्तिनाथ सिंह, डॉ राजेंद्र कुमार मीणा, डॉ विनोद कुमार गंगवार, डा. ध्रुव महाजन, डॉ वरुण बसलस, डॉ सिमरन बसलस, डॉ स्मिता नागर आदि का सम्मान किया गया।

शाखा के नवनिर्वाचित अध्यक्ष सचिन मित्तल, सचिव अमित जैन राजा, कोषाध्यक्ष नितिन अग्रवाल मोंटू व महिला संयोजिका रिंकू मित्तल को प्रांतीय महासचिव हरीश सुनेजा द्वारा शपथ ग्रहण कराई गई। प्रांतीय अध्यक्ष उमेश बंसल ने शाखा कार्यकारिणी को शपथ ग्रहण कराई। विवेक अग्रवाल प्रांतीय वित्त सचिव ने शाखा के नए सदस्यों को शपथ दिलाई।

इस दौरान डा.एमसी गुप्ता, डा.विधि अग्रवाल, अनूपचंद जैन एड., राजेंद्र जैन, मुकेश जैन, राहुल जैन सिटीजन, प्रदीप गुप्ता, हनुमान प्रसाद, वेदप्रकाश अग्रवाल, डा. चरन सरन, आनंद कुमार मित्तल, सुधीर जैन, अरुण जैन, उमेश शर्मा, गिरधारी लाल मित्तल, विनय गोयल, राजकुमार जैन, महेश चंद गुप्ता, अखिलेश बंसल, प्रदीप जैन, मनोज शर्मा, अजय मित्तल, संजीव जैन पिलख्तर, अभिषेक मित्तल क्रांति आदि मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन मयंक जैन माइक्रोटेक द्वारा किया गया।

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218