फिरोजाबाद: पत्नी और बेटे के हत्यारे को आजीवन कारावास

फिरोजाबाद। न्यायालय ने अपनी पत्नी व बेटे के हत्यारे को आजीवन कारावास की सजा सुनाई। उस पर अर्थ दंड भी लगाया और अर्थ दंड न देने अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी।

थाना टूंडला के बसई निवासी भरत उर्फ भारत ने छह दिसंबर 2010 को अपनी पत्नी पूनम तथा पांच वर्षीय बेटे निखिल की गला दबाकर हत्या कर दी थी। मामलें में भारत के भाई उदयवीर ने मुकदमा दर्ज कराया था। भाई का कहना था कि उनकी जमीन को मंडी समिति ने अधिग्रहित कर ली थीं। इसको लेकर भरत का मानसिक संतुलन खराब चल रहा था। वह अक्सर घर में पत्नी से लड़ाई लड़ता था। पुलिस ने मामले की तहकीकात के बाद उसके खिलाफ न्यायालय में आरोप पत्र दाखिल कर दिया था। मुकदमा अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश फास्ट ट्रैक कोर्ट संख्या-1 अतुल चैधरी की अदालत में चला।

अभियोजन पक्ष की तरफ से मुकदमें की पैरवी कर रहे विशेष लोक अभियोजक अरबेश कुमार शुक्ला ने बताया कि गवाहों की गवाही तथा साक्ष्य के आधार पर न्यायालय ने भरत को दोषी माना। उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई। उस पर पच्चीस हजार रू. का अर्थ दंड भी लगाया है। अर्थ दंड अदा न करने पर उसे अतिरिक्त सजा भी भुगतनी होगी।