फिरोजाबाद: यमुना के घाटों पर लगा गंदगी का ढेर

फिरोजाबाद। वैसे तो सरकार द्वारा यमुना की स्वच्छता अभियान को लेकर बड़े-बड़े दावे किए जाते हैं, परंतु हकीकत उससे कोसों दूर नजर आती है। शहर में कई समाजसेवी संस्थाएं प्रशासन के साथ मिलकर के यमुना किनारे स्वच्छता अभियान चलाते हैं। परंतु एक दिन के स्वच्छता अभियान और फोटो खिंचवाने के बाद फिर कोई उसकी सुध नहीं लेता है। वहां पर क्या हो रहा है।

जानकारी के मुताबिक तीन दिन बाद गंगा दशहरा का पर्व भी है। इस पर्व पर यमुना किनारे गंगा दशहरा मेले का आयोजन भी किया जाता है। हजारों की संख्या में श्रद्धालु यमुना स्नान करने जाते हैं। इस बार उन्हें गंदगी के ढेर पर ही स्नान करना पड़ेगा या वहां से वापस लौटना पड़ेगा। क्योंकि यमुना के किनारे लगे गंदगी के ये ढेर तो यही बयां कर रहे हैं, कि ना तो घाटों की स्वच्छता का प्रशासन को ध्यान है और ना ही किसी समाजसेवी संस्थाओं को। गंगा दशहरे के मेले के आयोजन में मात्र दो दिन शेष बचे हैं। परंतु प्रशासन की तरफ से वहां कोई भी तैयारी नजर नहीं आ रही है।