फिरोजाबाद: रोडवेज के रंग में रंगी प्राइवेट बस चालक कर रहे यात्रियों से धोखाधड़ी

फिरोजाबाद। रोडवेज के रंग में रंगी प्राइवेट बसें यात्रियों के साथ धोखाधड़ी कर रही हैं। यात्री रोडवेज बस समझकर बस में सवार हो जाते हैं। उसके बाद उन यात्रियों को प्राइवेट टिकट पकड़ा दी जाती है। विरोध करने पर यात्रियों से अभद्रता की जाती है। परिवहन विभाग के अधिकारियों द्वारा इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिससे सरकार के राजस्व को हानि पहुंच रही है।

आगरा से लेकर इटावा तक लगभग दो से तीन दर्जन प्राइवेट बसें संचालित हो रही हैं। जिसमें उत्तर प्रदेश लिखा होता हैं, इतना ही नहीं उन बसों पर नो एमएसटी नो पास लिखा होता है। वहीं यात्रियों को मध्य प्रदेश की टिकिट थमा दी जाती है। वहीं, प्राइवेट बसों के चलते रोडवेज बसों में सवारियां कम जा रही हैं। जिससे प्रतिदिन सरकार को लाखों रूपए के राजस्व का नुकसान हो रहा है।

वहीं, प्राइवेट बस चालक यात्रियों से रोडबेज बसों का किराया वसूल कर रहे है। कुछ कहने पर उनसे यात्रियों की नोंकझोंक भी होती है।ऐसा ही एक मामला गुरूवार को एक प्राइवेट बस में देखने को मिला। प्राइवेट बस चालक किराये को लेकर इटावा में देखने की धमकी दे रहा था। यह प्राइवेट बस किनके संरक्षण में सड़को पर दौड़ रही है और सरकार को प्रतिदिन लाखों रूपए का राजस्व को चूना लगा रही है।

इस संबंध में एआरटीओ सुरेश चंद्र यादव का कहना है कि इस प्रकार की बसों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है। कई बसों को सीज किया गया है। आगे की इस प्रकार की कार्रवाई जारी रहेंगी।