फिरोजाबाद: निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण मतगणना कराने के लिए जिला प्रशासन कटिबद्ध-डीएम

-जिलाधिकारी ने कलैक्ट्रेट सभागार में प्रत्याशियांे व उनके प्रतिनिधियों के साथ की बैठक

फिरोजाबाद। मण्डी समिति शिकोहाबाद में पुलिस व जिला प्रशासन की कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच चार जून को प्रातः 8 बजे से जनपद की पांचो विधानसभा निर्वाचन क्षेत्रांे के लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2024 की मतगणना प्रारम्भ होगी। मतगणना को निष्पक्ष, पारदर्शी व शांतिपूर्ण सम्पन्न कराने के लिए जिलाधिकारी रमेश रंजन ने बुधवार को कलैक्ट्रेट सभागार में सभी प्रत्याशी व उनके प्रतिनिधियों के साथ बैठक कर मतगणना सम्बन्धी सभी बारिकियों को बताते हुए सम्पूर्ण मतगणना प्रकिया की विस्तार से जानकारी दी।

उन्होंने सभी प्रत्याशियों से अपेक्षा की है कि अपने मतगणना एजेंटो को कैंडिडेट हैंडबुक मे दिए गए नियम व निर्देशों से भली-भांति अवगत करा दें। वह अपने व्यवहार व आचरण को संयमित रखें । उन्होने स्पष्ट कहा कि किसी भी प्रकार का विजय जुलूस पूर्णतः प्रतिबंधित है, इसके लिए सभी प्रत्याशी अपने कार्यकर्ताओं व समर्थकों को पहले से ही बताकर रखें। उन्होने सभी से कहा कि किसी भी तरह की अफवाह न फैलाए और न अफवाहो पर ध्यान दें। उन्होने स्पष्ट कहा कि सोशल मीडिया पर व अन्य किसी भी प्रकार से अफवाह फैलाने वालों पर सोशल मीडिया सेल मॉनिटरिग सिस्टम व खुफिया तंत्र से कडी निगरानी हो रही है और भ्रामक खबर व अफवाहे फैलाने वालो के विरूद्ध कठोर कायवाही की जाएगी। यदि किसी की कोई शिकायत है, तो हमें बताए या तैनात प्रेक्षक से लेकर भारत निर्वाचन आयोग तक बता सकता है, जिसका तुरंत संज्ञान लिया जाएगा। मगर किसी ने कानून व्यवस्था बिगाडने की कोशिश की तो निश्चित रूप से ऐसी कार्यवाही होगी, जो हमेशा के लिए नजीर बनेगी।

उन्होंने किसी भी भ्रामक खबर, अफवाह फैलाने व कानून व्यवस्था बिगाडने की कोशिश की तो गुण्डा एक्ट व गैगस्टर सहित आईपीसी की संगीन धाराओें में मुकदमा दर्ज कर जेल में डाला जाएगा। मतगणना स्थल मण्डी समिति के अंदर व बाहर शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए बडी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है। जिसमें लाठी चलाने से लेकर रस्सा डालने तक की सभी टीम एक्टीवेट कर दी गयी है। उन्होने मण्डी समिति के आसपास के रहने वाले लोगों से अपील की है कि वह अपने घरों पर किसी बाहरी व्यक्ति को न ठहरने दें, पुलिस द्वारा उनके घर की सघन चैकिंग भी की जाएगी। उन्होने मतगणना प्रक्रिया की जानकारी देते हुए बताया कि मतगणना केंद्र में अलग-अलग विधानसभा वार बनाए गए पाण्डालों मे प्रत्येक विधानसभा क्षेत्र के पण्डाल में 14-14 टेबिल लगाईं गई है। प्रत्येक टेबिल पर प्रत्याशी का अपना एजेण्ट तैनात रहेगा, जो मतगणना व ईवीएम के कंट्रोल यूनिट का डाटा अपनी आंखो से देख सकेगा।

इसके अतिरिक्त एआरओ टेबिल पर भी गणना अभिकर्ता मौजूद रहकर मतगणना की निष्पक्षता व पारदर्शिता को देख सकता है। कोईं भी प्रत्याशी व एजेण्ट अपने साथ अस्त्र-शस्त्र व मोबाइल फोन, इलैक्ट्रॉनिक वॉच, लैपटॉप, आई पैड, टेबलेट, पेजर, बीडी सिगरेट, माचिश लाइटर व अन्य ज्वलनशील पदार्थ तथा पानी की बोतल लेकर अंदर प्रवेश नही करेगा। सभी प्रत्याशी व एजेण्ट अपना फोटो युक्त पहचान पत्र अवश्य धारण करेंगे, एक बार मतगणना केंद्र मे प्रवेश के बाद बाहर नही जाएगें और यदि बाहर जाते है तो पुनः प्रवेश नही दिया जाएगा। कोई भी अभिकर्ता एक टेबिल से दूसरे टेबिल या एक पण्डाल से दूसरे पण्डाल मे नही घूमेगा।