फिरोजाबाद: पुलिसकर्मी ने शादी का झांसा देकर युवती से बनाए अवैध संबंध

-अश्लील वीडियो बनाकर कर रहा ब्लैकमेल

फिरोजाबाद। थाना मक्खनपुर क्षेत्र में पुलिसकर्मी द्वारा एक युवती के साथ प्रेम का नाटक कर उसके साथ संबंध बनाने और उसका अश्लील वीडियो बनाकर उसे ब्लैकमेल करने का मामला प्रकाश में आया है। पीड़िता ने आरोपी पुलिसकर्मी के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई है।

औरैया के लुहियापुर क्षेत्र की रहने वाली एक युवती ने फिरोजाबाद के मक्खनपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया हैं। युवती ने बताया कि सादाबाद के राजनगर हसनपुर के रहने वाले पुष्पेंद्र कुमार के साथ उसकी मुलाकात मार्च 2021 में हुई थीं। मोबाइल पर बातचीत करते हुए पुष्पेंद्र ने युवती को प्रेमजाल में फंसा लिया। युवती ने बताया कि साल 2022 में शादी के लिए परिवारीजनों ने सहमति दे दी। युवती के परिजनों ने 41 हजार रुपये दे दिए। पुष्पेंद्र के परिवार ने कहा कि पहले वह अपनी बहन की शादी करेगा तब अपनी करेगा।

आरोप है कि सिपाही युवती को औरैया के एक होटल में बुलाकर उसके साथ जबरन शारीरिक संबंध बनाएं। साथ ही अश्लील वीडियों भी बना लिया। कुछ महीने बाद जब युवती नोएडा जाने लगी तो सिपाही ने आगरा में उसे रोककर वहां भी संबंध बनाए। सिपाही ने मथुरा और नोएडा में युवती के साथ संबंध बनाए। युवती ने बताया कि जब सिपाही से शादी के लिए बोला तो उसने कहा कि पुलिस में नौकरी लगी है और 25 लाख रुपये उन्हें मिल रहे है।

अगर तुम्हारे परिवार वाले 25 लाख रुपये दे देंगे तो शादी होगी। इसके बाद 30 मई को उसने शादी से इंकार कर दिया। युवती को अब कांस्टेबल धमकी दे रहा है कि अगर उसके खिलाफ कार्रवाई की गई तो वह उसकी अश्लील वीडियो वायरल कर देगा। युवती ने अब मुकदमा दर्ज कराते हुए आला अधिकारियों से न्याय की गुहार लगाई है।

थानाध्यक्ष का कहना है कि आरोपी के विरुद्ध मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। मामले की जांच पड़ताल कर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

 

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218