फिरोजाबाद: 12 साल बाद हत्या का खुलासा, महिला सहित दो आरोपियों को किया गिरफ्तार

फिरोजाबाद। हत्या के मामले में फरार चल रहे दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। एक आरोपी की पहले ही मौत हो चुकी है। 12 साल बाद पुलिस ने हत्या की घटना का खुलासा किया है।

छोटे लाल पुत्र स्व. महाराज सिंह निवासी सुदामा नगर (कृष्णा नगर) थाना उत्तर फिरोजाबाद की गुमशुदगी थाना उत्तर फिरोजाबाद पर 13 फरवरी 2012 को दर्ज कराई गई थी। जिनका कंकाल 23 जनवरी 2023 को सुनील कुमार पुत्र बुद्धसेन व नीरज कुमार पुत्र बुद्धसेन निवासी कृष्णा नगर के बिक्री किए गए मकान के सीवर टैंक से बरामद हुआ था। मृतक के कपड़ों से उसकी शिनाख्त धनीराम उर्फ धन सिंह पुत्र महाराज सिंह निवासी नई आबादी टापाखुर्द थाना उत्तर के रूप में हुई थी। आरोपी नीरज पुत्र बुद्धसैन व आरोपित पुष्पा पत्नी स्व. सुनील निवासीगण कृष्णा नगर थाना उत्तर फिरोजाबाद को रविवार को गिरफ्तार कर लिया।

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि मृतक छोटेलाल व सुनील कुमार दोस्त थे। वह जुआ खेलते थे। जुआ खेलने के चलते सुनील ने भाई नीरज की चल अचल सम्पत्ति को जुआ में बेच दिया। नीरज व अभियुक्ता पुष्पा देवी ने विरोध किया, तो सुनील ने छोटेलाल का पक्ष लेते हुये अपने भाई व पत्नी से मारपीट की। उसका बदला लेने को उसकी हत्या कर दी। इस वारदात को अंजाम देने के एक आरोपी सुनील कुमार की मृत्यु हो चुकी है। पुलिस की मानें तो तीनो अभियुक्तों ने छोटे लाल पुत्र महाराज सिंह निवासी सुदामा नगर की 2012 में हत्या कर दी थी। उसकी 13 फरवरी 2012 को गुमशुदगी दर्ज की गई थी।

छोटे लाल की हत्या कर इन्होंने उसके शव को घर के सीवर टैंक में छुपा दिया। कुछ दिन बाद मकान को दूसरे व्यक्ति को बेच दिया। उस व्यक्ति ने सीवर की सफाई कराई तो 23 जनवरी 2023 को उसका कंकाल मिला। कपड़ो से उसकी शिनाख्त हुई थी। खुलासा करने वाली टीम में थानाध्यक्ष वैभव कुमार सिंह, उप निरीक्षक अशोक कुमार, जितेन्द्रपाल राजौरिया, महिला उप निरीक्षक नीतू, महिला कांस्टेबिल साधना, हेड कांस्टेबिल अशोक कुमार, कांस्टेबल लवप्रकाश आदि शामिल रहे।

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218