फिरोजाबाद: गाजे-बाजे के साथ निकली लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर की भव्य शोभायात्रा

फिरोजाबाद। सुहागनगरी में लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर की भव्य शोभायात्रा गाजे-बाजे के साथ गांधी पार्क से निकाली गई। शोभायात्रा में जनप्रतिनिधियों के अलावा पाल, बघेल व धनगर समाज के गणमान्य लोग मौजूद रहे।

रविवार को लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर जनकल्याण समिति की भव्य शोभायात्रा गांधी पार्क से निकाली गई। शोभायात्रा का शुभारम्भ अतिथियों द्वारा हरी झंडी दिखाकर किया गया। शोभायात्रा गांधी पार्क से प्रारम्भ होकर, सिनेमा चैराहा, बर्फखाना चैराहा, पुराना डाकखाना चैराहा, पथवारी माता मंदिर, रामलीला चैराहा, कोटला चुंगी होते हुए दखल स्थित लोकमाता अहिल्याबाई होल्कर की प्रतिमा पर पहुंचकर सम्पन्न हुई।

शोभायात्रा में सबसे आगे विध्नहर्ता भगवान गणेश का डोला, , बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ, जल जीवन पर आधारित झांकिया रही। वहीं ऊट, घोड़े, काली अखाड़े के अलावा एक दर्जन झांकिया रही। सबसे आखिरी में लोकमाता अहिल्याबाई की झांकी रही। शोभायात्रा का मार्ग में जगह-जगह पुष्प वर्षा कर स्वागत हुआ। इससे पूर्व गांधी पार्क में समिति द्वारा समाज के गणमान्य लोगों एवं अतिथियों का स्वागत किया गया।

शोभायात्रा में समिति के जिलाध्यक्ष जेपी बघेल, टूंडला विधायक प्रेमपाल सिंह धनगर, अध्यक्ष दयालुराम दयालु, विधायक मनीष असीजा, महापौर कामिनी राठौर, पाल बघेल धनगर महासभा की प्रदेश अध्यक्ष राजेश कुमारी पाल, शोभायात्रा अध्यक्ष दिनेश बघेल, होरीलाल बघेल, पुष्पेंद्र बघेल उर्फ पिंकी, राष्ट्रप्रकाश धनगर, देवेंद्र बघेल प्रधान, अवधेश बघेल पूर्व सभासद, अशोक कुमार बघेल, भूदेव बघेल, बीपी सिंह बघेल, संतोष बघेल, डॉ सर्वेश बघेल, रमेश बघेल, सूरजपाल बघेल, विनोद बघेल, राजेश बघेल एडवोकेट, चेतन बघेल आदि मौजूद रहे।

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218