फिरोजाबाद: अवैध संबंधों में ब्लैक मेल करने और गर्भवती होने पर की प्रेमी ने हत्या

-लाइनपार चैकी क्षेत्र में नगला सोना के समीप रेलवे लाइन के सहारे मिला था शव

फिरोजाबाद। टूंडला थाना क्षेत्रातर्गत महिला की हत्या कर नगला सोना में शव छिपाने वाली घटना का पुलिस ने सफल अनावरण कर दिया है। पुलिस ने महिला के प्रेमी और उसके दोस्त को गिरफ्तार कर न्यायालय के आदेश पर जेल भेजा है। महिला की हत्या के पीछे महिला के गर्भवती होने और महिला द्वारा प्रेमी को ब्लैकमेल करने का मामला सामने आया है।

एसपी सिटी सर्वेश कुमार मिश्रा ने बताया कि 12 जून को सुबह सात बजे के करीब टूंडला थाना पर सूचना मिली थी कि चैकी लाइनपार में ग्राम नगला सोना अनवारा मरघटी रेलवे लाइन के पास एक महिला का शव पड़ा है। सूचना मिलते ही थाना पुलिस मौके पर पहुंच गई। पोस्टमार्टम रिपोर्ट व जांच के आधार पर उनि महेन्द्र सिंह चैकी प्रभारी लाइनपार की तहरीर पर 19 जून को मुकदमा दर्ज किया गया था। शव की शिनाख्त कर घटना के खुलासे हेतु

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक सौरभ दीक्षित ने तीन टीमों का गठन किया था । गठित टीमों द्वारा घटनास्थल का निरीक्षण व कस्बा टूण्डला में रेलवे स्टेशन,प्रमुख चैराहों के आने जाने वाले रास्तों के लगभग 120 सीसीटीवी कैमरे देखकर अज्ञात मृत महिला की शिनाख्त की। जिससे टीम को यह ज्ञात हो गया कि दो व्यक्ति मृतक महिला के साथ देखे गये। वही उसके हत्यारे है। कैमरे में दिख रहे व्यक्तियों के बारे में मुखबिरों से तथा मृतका के परिवारीजनों से जानकारी की गयी तो उक्त व्यक्तियों का नाम अभिषेक ठाकुर पुत्र अरविन्द सिंह निवासी जलूखेड़ा थाना सकरौली जनपद एटा हाल निवासी विरजू का किराये का मकान मौहल्ला शोभा नगर थाना एत्माददौला आगरा और दीपक चैधरी पुत्र रविन्द्र सिंह निवासी एटा रोड राधा नगर कालौनी कस्बा व थाना टूण्डला का नाम प्रकाश में आया।

मृतका की शिनाख्त गुलफ्शा पुत्री स्व अब्दुल कलाम आगरा के रुप में हुई। हत्या करने वाले दोनों आरोपितों अभिषेक ठाकुर व दीपक चैधरी को बृहस्पतिवार को पुलिस टीम ने निहाल सिंह की पुलिया थाना टूण्डला के पास से गिरफ्तार कर लिया। एसपी सिटी ने बताया कि अभिषेक ठाकुर और दीपक चैधरी को गिरफ्तार कर न्यायालय के आदेश पर जेल भेजा है।

बच्चे को जन्म देने को लेकर हुआ था विवाद

एसपी सिटी ने बताया कि आरोपित अभिषेक ठाकुर ने पूछताछ पर बताया कि वह जब 17 वर्ष का था तभी मेरी दोस्ती गुलफ्शा से हो गयी थी। फिर वह वर्ष 2021 में गुलफ्शा को लेकर भाग गया । उसके बाद लड़की अपने घर चली गयी और उसके परिवारीजनों द्वारा उसकी शादी ग्वालियर में कर दी। दुबारा उसकी मुलाकात फरवरी 2024 में गुलफ्शा से इंस्टाग्राम पर हुई । हम लोगों में पहले चैटिंग फिर धीरे धीरे वाइस काल होंने लगी और उसने अपनी सारी बात बतायी फिर वह उसकी ससुराल ग्वालियर उसके घर पर जाकर मिला । तो उसने बताया कि मेरे पति जो टिर्री ई रिक्शा चलाते हैं । उसके बाद वह गुलफ्शा से छुट्टी के दिन उसके घर पति के जाने के बाद मिलने पहुंच जाता था ।

20 अप्रैल को ईद के दो दिन बाद गुलफ्शा ने कहा कि आगरा आ रही हूं । तुम कैण्ट स्टेशन पर मिलना। वह शाम सात बजे कैण्ट स्टेशन पर आ गयी तो वह उसे रामबाग ले आया । वहाँ एक कमरा किराये पर लिया वही दोनों लोग रहने लगे । एक दिन गुलफ्शा ने अपने पेट में बच्चा आने की बात बताई और कहा कि वह बच्चे को जन्म देगी। उसने कहा अभी बच्चे को जन्म मत दो, उसने मना किया तब वह मुझसे झगडने लगी और धमकी देने लगी कि तुम्हे मैं मुकदमें में फंसा दुंगी। इस बात को लेकर दोनों में विवाद हो गया।

इसके बाद गुलफ्शा को मारने की योजना बनाई । 9 जून को वह और दीपक मिले और दोनों ने गुलफ्शा को गला घोंटकर मारने की योजना बनायी। योजना के अनुरुप गुलफ्शा को 11 जून को उसकी हत्या कर दी। पुलिस ने पकड़े गये आरोपियों के कब्जे से हत्या में प्रयुक्त चाकू और मोबाइल बरामद कर लिया है। जिसमें हत्या के समय की वीडियो भी है।

 

Dinesh
Dinesh

दीनेश वशिष्ठ एक अनुभवी और समर्पित पत्रकार हैं, जो पत्रकारिता के क्षेत्र में अपनी गहन समझ और निष्पक्ष रिपोर्टिंग के लिए प्रसिद्ध हैं। उन्होंने पत्रकारिता में कई वर्षों का अनुभव अर्जित किया है। दीनेश की विशेषता उनकी गहरी शोध क्षमता और सत्य को उजागर करने की प्रतिबद्धता है। उन्होंने कई महत्वपूर्ण घटनाओं को कवर किया है और उनके रिपोर्ट्स ने समाज पर सकारात्मक प्रभाव डाला है।

Articles: 688