फिरोजाबाद: 25 लाख के सोने चांदी के आभूषण सहित तीन गिरफ्तार, एक फरार

-आरोपियों ने नौ घरों में चोरी की घटना कुबूली

फिरोजाबाद। सोने और चांदी के आभूषण चोरी करने वाले गिरोह के तीन आरोपियों को थाना रजावली पुलिस और एसओजी टीम ने गिरफ्तार कर लिया, जबकि इनका एक साथी भागने में सफल हो गया। इनके पास से सोने चांदी के करीब 25 लाख के आभूषण बरामद हुए हैं। इस गिरोह के द्वारा रात 12 बजे से लेकर रात तीन बजे तक चोरी की वारदात को अंजाम दिया जाता था। चोरी करने जाने से पहले वह बाइक की नंबर प्लेट बदल देते थे।

एसपी सिटी सर्वेश कुमार मिश्रा ने बताया कि रजावली थाना क्षेत्र में कई चोरी की घटनाएं घटित हुई थीं। जिनकी रिपोर्ट दर्ज की गई थी। रजावली इंस्पेक्टर उमेश कुमार शर्मा और एसओजी प्रभारी शैलेंद्र चैहान ने संयुक्त रूप से चेकिंग अभियान चलाते हुए चोरी करने वाले गिरोह के तीन आरोपियों को लखनई गांव के बाहर फरिहा रोड से गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में उन्होंने अपने नाम वीरपाल पुत्र साहब सिंह निवासी ग्राम नमेनी थाना कोतवाली कासगंज, विपिन पुत्र मुन्नालाल और पंजाबी पुत्र सुजान सिंह निवासीगण पैंसोई थाना सौरों कासगंज जबकि फरार होने वाले आरोपी का नाम नेकसे पुत्र बलवीर निवासी पैसोई थाना सौरों जनपद कासगंज बताया है।

तलाशी लेने पर इनके पास से पांच जोड़ी टॉप्स, आठ चूड़ी, पांच कालर, चार गले की चेन, 18 अंगूठी, चार पैंडल, एक जोड़ी झुमकी, एक जोड़ी टॉप्स, सात कंधौनी चांदी, 16 जोड़ी पायल चांदी, एक तमंचा, एक बाइक, एक सब्बल बरामद हुई है। पूछताछ में आरोपियों ने नौ घरों जिनमें तजापुर में दो, लखनई में दो, बेलनगंज में एक, सेवला में चार घरों से चोरी की घटनाओं को अंजाम देना कबूल किया है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वह रात में 12 बजे से तीन बजे तक चोरी की वारदात को अंजाम देते थे। चोरी करने से पहले वह बाइक की नंबर प्लेट बदल देते थे। एसपी सिटी ने बताया कि गैंग का सरगना पंजाबी है, जिस पर 31 मुकदमे फिरोजाबाद, एटा, कासगंज में दर्ज हैं। जबकि वीरपाल पर एक दर्जन और विपिन पर आधा दर्जन मुकदमे दर्ज हैं।

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2218