फिरोजाबाद: मेडिकल कॉलेज में वार्ड बॉय ने वेतन वृद्धि की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

-मेडीकल काॅलेज के प्राचार्य एवं अधिकारियों के आश्वासन के बाद धरना समाप्त

फिरोजाबाद। मेडिकल कालेज में मंगलवार को वेतन वृद्धि की मांग को लेकर वार्ड बॉय कर्मचारियों ने धरना शुरू कर दिया। उन्होंने अधिकारियों पर अनदेखी का आरोप लगाया है। अपनी मांग को पूरा कराने को लेकर उन्होंने मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य को शिकायती पत्र भी सौंपा था। वहीं प्रशासनिक अधिकारियों एवं मेडीकल काॅलेज प्राचार्य के आश्वासन के बाद बार्ड बाॅय का धरना समाप्त हो गया।

वार्ड बॉय कर्मचारियों ने धरना प्रदर्शन करते हुए कहा कि कोविड काल के दौरान उन्होंने पूरे जी जान के साथ काम किया। अपनी जान जोखिम में डालकर सेवाएं दीं। विगत पांच साल से उन्हें 250 रुपये प्रतिदिन के हिसाब से वेतन दिया जा रहा है। इस महंगाई के दौर में इतने पैसों में उनका खर्च नहीं चल पा रहा है। जिसकी वजह से वह परेशान हैं। कर्मचारियों का कहना है कि जब से उनकी नौकरी लगी है, तब से वेतन नहीं बढ़ाया गया है। जबकि महंगाई बढ़ती जा रही है। इस कारण अल्प वेतन में परिवार का गुजर बसर करना मुश्किल हो गया है। वेतन वृद्धि करने की मांग कई बार मेडिकल कालेज प्रशासन से की गई, लेकिन सुनवाई नहीं की जा रही है। इससे आक्रोशित कर्मी सुबह नौ बजे कार्य से विरत होकर धरना प्रदर्शन करने लगे। अधिकारियों ने समझाने का प्रयास किया, लेकिन धरना प्रदर्शन कर रहे लोग उनकी सुनने को तैयार नहीं थे।

वार्ड बॉय का कहना है कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होगी, वह धरना प्रदर्शन करते रहेंगे। मौके पर मेडिकल कालेज के प्राचार्य डा. बलवीर सिंह व सीएमएस डा. नवीन जैन मौके पर पहुंचे हैं और कर्मचारियों को मनाने में जुटे हैं। हालांकि कर्मचारी अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं। वहीं नगर मजिस्ट्रेट, एसडीएम, पूर्व एमएलसी डाॅ दिलीप यादव ने मेडीकल काॅलेज के प्राचार्य के साथ वार्ता कर वार्ड बाॅय की समस्याओं का जाना। प्रशासनिक अधिकारियों के आश्वासन के बाद वार्ड बाॅय ने अपना धरना प्रदर्शन समाप्त कर दिया। धरना प्रदर्शन में शिवम, संजय, आकाश गुप्ता, अमन, कशिश, अनिल कुमार आदि मौजूद रहे।

Ravi
Ravi

रवि एक प्रतिभाशाली लेखक हैं जो हिंदी साहित्य के क्षेत्र में अपनी अनूठी शैली और गहन विचारधारा के लिए जाने जाते हैं। उनकी लेखनी में जीवन के विविध पहलुओं का गहन विश्लेषण और सरल भाषा में जटिल भावनाओं की अभिव्यक्ति होती है। रवि के लेखन का प्रमुख उद्देश्य समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना और पाठकों को आत्मविश्लेषण के लिए प्रेरित करना है। वे विभिन्न विधाओं में लिखते हैं,। रवि की लेखनी में मानवीय संवेदनाएँ, सामाजिक मुद्दे और सांस्कृतिक विविधता का अद्वितीय समावेश होता है।

Articles: 2244