फिरोजाबाद: हिंट एंड रन कानून को दो धारी तलवार बतातें हुए चालकों ने किया प्रदर्शन, नारेबाजी

फिरोजाबाद। केंद्र सरकार द्वारा पारित किया जा रहा हिंट एंड रन कानून के खिलाफ बस एवं ट्रक ड्राइवरों द्वारा कड़ा विरोध दर्ज कराया जा रहा है। जिसके चलते सोमवार को रोडबेज बसों के पहिये तो थम गये। वहीं ट्रक चालकों ने भी हडताल कर दी। साथ ही मक्खनपुर के समीप ट्रक ड्राईवरों ने हाईवे पर जाम लगा दिया। जिसके चलते पुलिस को बल पूर्वक ट्रक ड्राईवरों को हटवाकर जाम खुलवाया।

बता दें कि सरकारी आकड़ों के अनुसार प्रति वर्ष पचास हजार व्यक्तियों की मौत हिट एंड रन की वजह से हो जाती हैं। हिंट एंड रन का मतलब होता है कि यदि किसी चालक ने अपने वाहन से सामने वाले व्यक्ति को घायल कर दिया और मौके से भाग खड़ा हुआ। तो उक्त चालक को हिंट रन कानून के तहत सात लाख व दस साल की सजा का प्रावधान किया गया है। जबकि इससे पहले दो साल की सजा का प्रावधान था।

वहीं प्रदर्शन कर रहे चालको का कहना है कि यह कानून हमारे लिए दो धारी तलवार की तरह है। कानून के मुताबिक हमारे वाहन से हुए दुर्घटना की सूचना वहीं पर खड़े होकर देने लगगें, तो भीड़ आक्रोंशित होती है, तो हमें हानि पहुंचा सकती है। अगर हम वहाॅ से चले गये, तो कानून के तहत हम पर कड़ी कार्यवाही की जायेगी।

चालको का प्रदर्शन से जनपद में दिखा कारोबार पर असर

फिरोजाबाद। हिंट एंड कानून के विरोध में ड्राईवर यूनियन द्वारा किये जा रहे प्रदर्शन का असर अब जनपद में भी दिखने लगा है।

जानकारी के मुताबिक जनपद से लगभग 300 ट्रक माल लेकर देश के अलग-अलग स्थानों पर गये थे। जो प्रदर्शन के चलते थम गये है। जहां पर जो ट्रक मौजूद है। वह वहां से किसी भी कीमत पर हटाने को तैयार नहीं है। अगर कोई भी ट्रक जबरदस्ती ले जाता है तो यूनियन ट्रकों के शीशे तोड़ रही है। इस दौरान ट्रक चालकों की हड़ताल में अन्य वाहन भी फंस चुके है।

फिरोजाबाद से 300 ट्रक चूड़ी व कांच व अन्य सामग्री लेकर समस्त प्रदेशों के लिए रवाना होते है। लेकिन अब हड़ताल के चलते जनपद के कारोबार के साथ मजदूरों को भी जीविका चलाने में परेशानी हो रही है। साथ ही सफर करने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -