Skip to content

फिरोजाबाद: मंडलायुक्त को आईटीएमएस सिस्टम के संचालन मिली खामियां

-स्मार्ट सिटी योजना अंतर्गत चल रहे विकास कार्यों की मंडलायुक्त ने निरीक्षण कर जानी हकीकत

फिरोजाबाद। स्मार्ट सिटी योजना अंतर्गत प्रथम फेज में हो रहे कार्यों की हकीकत जाने को मंडलायुक्त रितु माहेश्वरी ने शुक्रवार को निगम का दौरा किया। लगभग 33 करोड़ की लागत वाले आईटीएमएस सिस्टम की जानकारी ली। आईटीएमएस सिस्टम के संचालन में मंडलायुक्त को खामियां मिलीं। आईटीएमएस सिस्टम को लेकर पूछे सवालों का निगम के अधिकारी संतोष जनक जबाब नहीं दे पाए। जिस पर उन्होंने असंतोष जाहिर किया।

 

सेफ सिटी प्लान के तहत फरवरी 2023 में स्थापित लगभग 33 करोड़ की लागत वाले आईटीएमएस सिस्टम के संचालन में अभी भी कई बड़ी खामियां हैं। शुक्रवार को निरीक्षण को पहुंची मंडलायुक्त ने रितु माहेश्वरी ने नगर निगम के अधिकारियों से आईटीएमएस संचालन को लेकर करीब दस सवाल पूछे, लेकिन उन्हें किसी भी सवाल का संतोष जनक जबाब नहीं मिला। आईटीएमएस सिस्टम को योजनाबद् तरीके से अपग्रेड करने में बरती जा रही लापरवाही पर मंडलायुक्त ने असंतोष जताया।

वहीं व्यापारियों ने मंडलायुक्त के समक्ष अपनी समस्याऐं रखी। उन्होंने कहा कि स्मार्ट सिटी का काम बहुत धीमा चल रहा है। जिससे व्यापारियों को काफी परेशानी हो रही है। वहीं व्यापार मंडल के जिलाध्यक्ष रवीन्द्रलाल तिवारी ने एक दुकानदार का निगम कर्मचारियों द्वारा ठेला तोड़े जाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि ठेला लगाकर वह अपने परिवार का पालन पोषण करता है। उसका ठेला ही नष्ट कर दिया।

उन्होंने उक्त कर्मचारी-स्मार्ट सिटी योजना अंतर्गत चल रहे विकास कार्यों की मंडलायुक्त ने निरीक्षण कर जानी हकीकत के खिलाफ कार्यवाही करने व गरीब व्यापारी को न्याय दिलाने की बात कही। वहीं स्मार्ट सिटी के अंतर्गत बस स्टेंड के बाहर बनी दुकानों को नगर निगम द्वारा तोड़ दिया गया था और उन्हें लोहे के खोखे बनबाकर देने का वादा किया गया था। लेकिन अभी तक निगम द्वारा 13 दुकानदारों को लोहे के खोखे बनबाकर नहीं दिए गए। उन्होंने दुकानदारों के साथ न्याय करने की मांग की है।

इस दौरान दौरान जिलाधिकारी डाॅ उज्जवल कुमार, नगर आयुक्त घनश्याम मीणा, सीडीओ दीक्षा जैन, महापौर कामिनी राठौर, सिटी मजिस्ट्रेट संगीता, एसडीएम विकल्प, सीओ सिटी कमलेश कुमार के अलावा निगम अधिकारी मौजूद रहे।

मंडलायुक्त ने इन बिंदुओं पर जताई नाराजगी
-फरवरी में स्थापित आईटीएमएस सिस्टम के जरिए हुए लगभग पांच करोड़ के 60000 चालान नहीं हुए जनरेट
-सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट और डोर टू डोर कूड़ा कलैक्शन में लगे वाहनों की लाइव लोकेशन जानने को सिस्टम से जोड़ने का अधूरा
-ट्रेफिक कंट्रोल सिस्टम, पब्लिक अनाउंस सिस्टम में खामियां
-चैराहों पर होने वाली गतिविधियों का डाटा संकलन के काम में भी खामी
-आईटीएमएस सिस्टम के तहत चैराहों पर लगे ट्रेफिक सिग्नल की टाईमिंग में गड़बड़ी
-पुलिस थाना, प्रमुख बाजार, गौशाला और प्राइवेट संस्थानों में लगे सीसीटीवी कैमरा आईटीएमएस से जोड़ने का काम अधूरा
-सामुदायिक व सार्वजनिक शौचालयों की लाइव लोकेशन डाटा एकत्रिकरण काम का अधूरा
-सिस्टम संचालन को जरूरी मानव संपदा सृजन की कार्रवाई भी अधूरी


एक माह में पूरा कराए स्मार्ट रोड का काम-मंडलायुक्त
फिरोजाबाद। आईटीएमएस सिस्टम के बारे में जानकारी करने के बाद मंडलायुक्त रितु माहेश्वरी सीधे सुभाष तिराहा पर पहुंची। मंडलायुक्त ने डीएम, नगर आयुक्त एवं कार्यदायी संस्था के अधिकारियों से स्मार्ट रोड निर्माण कार्य में हो रही देरी पर भी सवाल किए। अधिकारियों दो माह में काम पूरा कराने की बात कही। लेकिन उन्होंने कड़े निर्देशों के साथ स्मार्ट रोड निर्माण का काम एक माह में पूरा कराने को कहा। निरीक्षण के दौरान आगरा गेट बाजार समिति के दुकानदार रतिराम ने मंडलायुक्त से निगम की क्षतिग्रस्त की दुकानों की मरम्मत कराने की बात कही। उन्होंने कहा कि आए दिन दुकानों का प्लास्टर गिरता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *