फिरोजाबाद: काशी से काबा तक खोदो भोले बाबा निकलेंगे……

-कवि सम्मेलन में कवियों ने अपनी रचनाओं से श्रोताओं को काव्य रस में किया सराबोर

फिरोजाबाद। वरिष्ठ समाज सेविका स्व. सरोज सिंह निडर की पुण्यतिथि पर साहित्य सरोज सेवा संस्थान द्वारा सरोजिनी नायडू जूनियर हाईस्कूल में आयोजित अखिल भारतीय कवि सम्मेलन में कवियों ने अपनी रचनाओं को प्रस्तुत कर श्रोताओं को काव्य रस में सराबोर कर दिया।

काव्य पाठ का शुभारंभ पानीपत हरियाणा से पादरी कवियत्री डॉक्टर सोनिया सनम के द्वारा प्रस्तुत मां सरस्वती की वंदना से हुआ। कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे हैं हरिओम आचार्य ने कवियों की रचनाओं को साराहा और सरोज सिंह निडर के जीवन से प्रेरणा लेने का आवाहन किया। बलिया से पधारे भोजपुरी भूषण डॉक्टर नंद जी नंदा ने कहा अद्भुत क्षमता इस मातृभूमि मां में भरी, कण कण को ऊर्जा वान बना देती है, प्यार संस्कार दे पढ़ा ममता का पाठ, विश्व में अलग-अलग पहचान बना देती है।

कानपुर से आए कवि राधेश्याम मिश्र ने काव्य पाठ करते हुए कहा, जिसका लक्ष्य बड़ा होता है आगे वही खड़ा होता है। उज्जैन मध्य प्रदेश से पधारे कवि नरेंद्र सिंह अकेला ने कुछ यूं कहा सुनो राधा हमारे प्रेम का परिणाम आएगा, मुझे जब भी पुकारोगी तुम्हारा श्याम आएगा। मुझे सब लोग पूजेंगे मगर इतना समझ लेना हमारे नाम से पहले तुम्हारा नाम आयेगा। भंडारा महाराष्ट्र से आए कवि प्रमोद साहू पारखी ने कहा सरोज नहीं मकरंद है अभी तुम्हारी स्मृतियों की सुगंध है, अभी मन की पिंजर तोड़ कर उड़ गया हंस, आत्मा का आत्मा से अनुबंध है। वेद प्रकाश मणि अलीगढ़ ने कविता पाठ करते हुए कहा, चाहे जिस मीनार को खोदो पक्के दावा निकलेंगे, काशी से काबा तक खोदो भोले बाबा निकलेंगे।

कविता पाठ करने वाले अन्य कवियों में धांसू खैरवी ने अपनी हास्य भिन्न की रचनाओं से श्रोताओं को खूब गुदगुदाया। बाह आगरा से आए विनोद सांवरिया ने पढ़ा की उलझन की नदिया को पार कर चले आओ, प्रीत स्वयं को ही वार कर चले आओ। आगरा से आए डॉक्टर अंगद धारिया ने कुछ यूं पढ़ा कि तू नहीं साथ तेरी याद लिए जाता हूं, सात जन्मों के वायदे को अभी तक निभाता हूं। इससे पूर्व समाज में उत्कृष्ट कार्य कर अपनी पहचान बनाने वाली 21 विदुषी नारियों को सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से पूर्व सांसद प्रोफेसर ओमपाल सिंह निडर, भाजपा जिलाध्यक्ष उदय प्रताप सिंह, ब्लॉक प्रमुख डॉ लक्ष्मी नारायण यादव, जगदीश प्रसाद शर्मा एडवोकेट, महेंद्र बंसल, अनूप चंद जैन एडवोकेट, प्रेमवीर सिंह सविता, सत्यवीर गुप्ता, प्रमोद बघेल, कोशम नारायण सिंह आदि उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन भगवान दास शंखवार ने किया।

- Advertisement -
- Advertisement -spot_img

Related News

- Advertisement -